नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार से दो दिवसीय दौरे पर गुजरात के जाएंगे. इस दौरान वह प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना का शुभारंभ करेंगे और छह किलोमीटर लंबी अहमदाबाद मेट्रो सेवा के पहले चरण का उद्घाटन करेंगे. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री उमिया धाम मंदिर की नींव भी रखेंगे.उन्होंने बताया कि मोदी पांच मार्च को शिक्षण भवन और विद्यार्थी भवन की नींव रखने के लिए गांधीनगर के अडालज में अन्नपूर्णा धाम ट्रस्ट भी जाएंगे. सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री सौराष्ट्र क्षेत्र में जामनगर से अपने दो दिवसीय दौरे का आरंभ करेंगे जहां वह 750 बेड वाला गुरु गोबिंद सिंह अस्पताल राष्ट्र को समर्पित करेंगे और उसके पीजी हॉस्टल का उद्घाटन करेंगे.

पीएम मोदी मंगलवार को गांधीनगर के अदलाज में नवनिर्मित मंदिर में माता अन्नपूर्णा के ‘प्राण प्रतिष्ठा’ कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. आयोजकों ने बताया कि प्रधानमंत्री आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिये मंदिर परिसर में 15 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले प्रशिक्षण सह छात्रावास की आधारशिला भी रखेंगे.न्यासियों ने बताया कि मंदिर के निर्माण में साढ़े पांच करोड़ रुपये की लागत आई है.ट्रस्ट में पाटीदार समुदाय के उपसमूह लेउवा पटेल शामिल हैं.

मंदिर में ‘प्राण प्रतिष्ठा’ कार्यक्रम में मोदी के आने की जानकारी देते हुए राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और ट्रस्ट के प्रमुख नरहरी अमीन ने बताया कि कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के अलावा राज्य के राज्यपाल ओ पी कोहली, मध्य प्रदेश की राज्यपाल और गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी शामिल होंगे.

अमीन ने कहा कि छात्रावास सह प्रशिक्षण केंद्र आर्थिक रूप से कमजोर विशेषकर ग्रामीण इलाकों से आने वाले छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये मदद उपलब्ध कराएगा. इसमें 600 से अधिक छात्रों के लिए रहने की सुविधा होगी और अगले साल जून तक इसके बनकर तैयार होने की संभावना है.

उन्होंने कहा, ‘पाटीदार समुदाय से आने वाले छात्रों को प्राथमिकता दी जाएगी लेकिन अन्य समुदायों से आने वाले छात्र भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. प्रतियोगी परीक्षा के लिए प्रशिक्षण भी मामूली शुल्क पर उपलब्ध कराया जायेगा. साथ ही अंतिम सूची के लिए छात्रों को छांटने की प्रक्रिया आगामी महीनों में न्यास तय करेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शहर के बाहरी इलाके में 1,000 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले ‘विश्व उमिया धाम’ के विशाल मंदिर परिसर के लिये चार मार्च को आधारशिला रखने वाले हैं. मंदिर पाटीदार समुदाय के उपसमूह ‘कड़वा पटेल’ की कुलदेवी माता उमिया को समर्पित होगा. आयोजकों ने बताया कि मंदिर परिसर में एक कौशल विश्वविद्यालय, छात्रावास, परामर्श केंद्र और समुदाय के सदस्यों के बीच विवादों के समाधान के लिये एक केंद्र होगा.