नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महात्मा गांधी को समर्पित एक संग्रहालय, अमूल चॉकलेट के एक संयंत्र और विकास परियोजनाओं के उद्घाटन के लिए रविवार को गुजरात के राजकोट, आणंद और कच्छ जिलों का दौरा करेंगे. मोदी राजकोट के अल्फ्रेड हाई स्कूल में नव निर्मित महात्मा गांधी संग्रहालय का उद्घाटन करेंगे. महात्मा गांधी ने 1887 में इस स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी. आजादी के बाद इस स्कूल का नाम बदलकर मोहनदास गांधी हाईस्कूल रख दिया गया था. अधिकारियों द्वारा इसे संग्रहालय में तब्दील करने के उद्देश्य से 2017 में इसे बंद कर दिया गया था.

प्रधानमंत्री का दिनभर का दौरा आणंद जिले के मोगर में गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (जीसीएमएमएफ) के चॉकलेट संयंत्र के उद्घाटन के साथ शुरू होगा. प्रधानमंत्री यहां किसानों को भी संबोधित करेंगे. जीसीएमएमएफ के पास अमूल का स्वामित्व है. इसी जगह से मोदी वीडियो लिंक के जरिये जिले की अंकलाव तहसील के मुजकुवा में एक सौर ऊर्जा सहकारी समिति की भी शुरुआत करेंगे. यह समिति 11 किसानों ने बनाई है जो सिंचाई के लिये सौर ऊर्जा का उत्पादन करेगा और अतिरिक्त सौर ऊर्जा की बिक्री भी करेगा.

मोदी इसके साथ ही कच्छ जिले के अंजार में गुजरात स्टेट पेट्रोनेट लिमिटेड (जीएसपीएल) द्वारा मुंद्रा पोर्ट और अंजार के बीच बिछाई गई प्राकृतिक गैस पाइपलाइन को भी राष्ट्र को सौंपेंगे. वह कच्छ के वरसाना, भीमासार, अंजार और भुज शहरों को जोड़ने के लिए चार लेन वाले राजमार्ग के लिये भूमिपूजन भी करेंगे. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस का एक मात्र एजेंडा दूसरों पर कीचड़ उछाकर, झूठी खबरें फैलाकर गुमराह करने का है, जबकि देश की जनता के विश्वास से वर्तमान सरकार बड़े और कड़े फैसले ले रही है.

प्रधानमंत्री ने बूथ कार्यकर्ताओं से कहा, ‘ कांग्रेस पार्टी अपने झूठों को चलाने के लिए बेशर्मी का सहारा ले रही है. कांग्रेस ने सरदार वल्लभभाई पटेल साहब को कभी याद तक नहीं किया और आज जब देश सरदार साहब का सम्मान कर रहा है तो यह बात इनसे हज़म नहीं हो रही है. मोदी ने कहा कि पूरा देश जानता है कि कांग्रेस सरकार के रूप में भ्रष्ट और विफल थी. कांग्रेस ने पिछले चार साल में अहंकारी, जनता से कटी हुई, संवेदन हीन और पूरी तरह से नाकाम विपक्ष की भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा,‘ झूठी खबरें फैलाओं, उनको बार-बार जोर-जोर से रोज दोहराओं और लोगों को गुमराह करो.’