नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दक्षिण भारत के तीन राज्यों आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक का दौरा करेंगे. पीएम मोदी सबसे पहले आंध्र प्रदेश के गुंटूर में एक रैली को संबोधित करेंगे. इसके बाद तमिलनाडु के तिरुपुर और फिर कर्नाटक में रैली को संबोधित करेंगे. टीडीपी के एनडीए गठबंधन से अलग होने के बाद पीएम मोदी का यह आंध्र प्रदेश का पहला दौरा है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने तेलुगू देशम पार्टी के अपने सदस्यों और कार्यकर्ताओं से शनिवार को कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रविवार को प्रस्तावित राज्य की यात्रा के दौरान विरोध प्रदर्शन करें.

नायडू तेदेपा के अध्यक्ष भी हैं. उन्होंने टेलीकॉन्फ्रेंस कॉल के दौरान कार्यकर्ताओं और पार्टी सदस्यों से कहा कि राज्य के साथ केंद्र के ‘विश्वासघात’ के खिलाफ विरोध प्रदर्शन इस पैमाने पर किया जाना चाहिए कि पूरे देश का ध्यान इस ओर आकर्षित हो. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी द्वारा दिखाए गए तरीके से विरोध-प्रदर्शन आयोजित किए जाने चाहिए. नायडू ने आरोप लगाया कि मोदी 2014 में राज्य के विभाजन के बाद की बर्बादी देखने के लिए राज्य आ रहे हैं. इससे पहले नायडू ने मोदी के दौरे पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा था, “क्या वह यहां यह देखने आ रहे हैं कि लोग अभी भी जीवित हैं या नहीं? नायडू ने कहा कि राज्य सरकार को अस्थिर करने के लिए साजिश रची गई.

तमिलनाडु में 7 लोकसभा सीटों को साधने की कोशिश
वहीं तमिलनाडु इकाई तिरुपुर में रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सार्वजनिक रैली के लिए तैयार है. तमिलनाडु में ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष एसके खरवेंटन ने बताया, एक सरकारी समारोह में भाग लेने के बाद, मोदी एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करेंगे, जिसमें 150,000 लोगों के शामिल होने की संभावना है. वह सात लोकसभा क्षेत्रों -ऊटी, कोयंबटूर, पोलाची, इरोड, करूर, तिरुपुर और सालेम स्थित पार्टी के सदस्यों और अन्य लोगों को संबोधित करेंगे. उन्होंने कहा कि वित्तमंत्री पीयूष गोयल और वित्त राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन भी इस मौके पर उपस्थित होंगे.

कई परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे
रैली को संबोधित करने से पहले मोदी को तिरुपुर के पेरुमानाल्लूर गांव में कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ भी करना है. मोदी तिरुपुर में 100 बिस्तरों वाले राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) की स्वास्थ्य सुविधा का शिलान्यास करेंगे, जो ईएसआई अधिनियम के तहत आने वाले होजरी शहर और आसपास के क्षेत्रों के 100,000 से अधिक श्रमिकों और उनके परिवार के सदस्यों की चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा करेगा.प्रधानमंत्री त्रिची हवाईअड्डे पर एक नई एकीकृत इमारत और चेन्नई हवाईअड्डे के आधुनिकीकरण की आधारशिला भी रखेंगे.

470 बिस्तरों के अस्पताल को करेंगे समर्पित
मोदी यहां राष्ट्र को 470 बिस्तरों के ईएसआईसी अस्पताल और भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के एन्नोर कोस्टल टर्मिनल भी समर्पित करेंगे. वह चेन्नई बंदरगाह से यहां चेन्नई पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (सीपीएल) की मनाली रिफाइनरी के लिए कच्चे तेल पाइपलाइन का उद्घाटन भी करेंगे.उन्नत सुरक्षा सुविधाओं के साथ निर्मित पाइपलाइन, कच्चे तेल की विश्वसनीय आपूर्ति सुनिश्चित करेगी और तमिलनाडु एवं पड़ोसी राज्यों की जरूरतों को पूरा करेगी.इसके अलावा, चेन्नई मेट्रो रेल के 10-किमी खंड पर यात्री सेवा का उद्घाटन भी मोदी द्वारा किया जाएगा. यह खंड एजी-डीएमएस मेट्रो स्टेशन से वाशरमेनपेट मेट्रो स्टेशन तक है.

कर्नाटक में आईआईटी का शिलान्यास
मोदी कर्नाटक के धारवाड़ में आईआईटी का शिलान्यास करेंगे. फिर मेंगलुरु और पेदुर में पेट्रोलियम रिजर्व राष्ट्र को समर्पित करेंगे. पीएम मोदी राज्य के दौरे पर उस समय आ रहे हैं जब कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार ने बीजेपी पर गठबंधन की सरकार को अस्थिर करने और विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया है. कांग्रस ने इस मामले में विधायकों को कथित तौर पर ऑफर की गई राशि से संबंधित बातचीत का ओडियो भी जारी किया है.