नई दिल्ली: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को कहा कि ‘स्वतंत्रता के बाद देश ने जो नेता देखे हैं उनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे खराब हैं. अमरिंदर सिंह की ओर से यह तीखा हमला कर्ज माफी, 1984 दंगों और अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस पर मोदी के निशाना साधने के एक दिन बाद किया गया है. सिंह ने प्रधानमंत्री को चुनौती दी है कि वह ‘पिछले पांच वर्षों में अपनी सरकार की ओर से पूरा किये गए एक भी वादे का उदाहरण बतायें.

उन्होंने गुरुवार को मोदी की गुरदासपुर रैली का उल्लेख करते हुए कहा कि जुमलेबाज प्रधानमंत्री ने अपने धोखे और मनगढंत बातों से देश को निचले स्तर पर पहुंचा दिया है और लोग भले के लिए उन्हें सत्ता से हटाने की तैयारी में हैं. उन्होंने कहा, ‘कोई भी यह सोचेगा कि मोदी किस मुंह से फिर से चुने जाने की इरादे से लोगों के पास जाएंगे. उन्होंने प्रधानमंत्री को सबसे खराब नेता बताया जो भारत ने स्वतंत्रता के बाद देखा है.

टेस्ट ट्यूब तकनीक से हुआ था कौरवों का जन्म, रावण के श्रीलंका में कई हवाई अड्डे थे

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह गुरुवार को भारतीय विज्ञान कांग्रेस में शामिल नहीं हुए जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. मुख्यमंत्री आमतौर पर भारतीय विज्ञान कांग्रेस (आईएससी) के उद्घाटन सत्र में भाग लेते हैं क्योंकि इसे प्रतिष्ठित समारोह माना जाता है, खासतौर से विद्यालय के लिए और राज्य इसका आयोजन कर रहा है.

पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर, केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन, केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री विजय सांपला और पंजाब के वाणिज्य मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा इस मौके पर मौजूद थे. आईएससी का उद्घाटन करने के बाद मोदी ने गुरदासपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित किया जहां उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा.

यूपी में 37-37 सीटों पर लड़ सकती हैं सपा-बसपा, जल्द हो सकती है घोषणा

पीएम ने कांग्रेस पर 1984 के सिख विरोधी दंगे में शामिल व्यक्तियों को बचाने का आरोप लगाया और कहा कि ऐसे नेताओं को मुख्यमंत्री पद से पुरस्कृत किया गया. मोदी ने परोक्ष रूप से मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री कमलनाथ को निशाना बनाते हुए यह ताना मारा. उन्होंने विपक्ष पर कृषि ऋण माफी का वादा कर किसानों को ‘ठगने’ का भी आरोप लगाया. कमलनाथ दंगे को लेकर आरोपों से पहले ही इनकार कर चुके हैं. उनका कहना है कि दंगे से उनका कोई लेना-देना नहीं है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- बेरोजगारी देश की सबसे बड़ी समस्या

मोदी के भाषण में यहां के एक गुरुद्वारे और पाकिस्तान के करतारपुर के सिख धर्मस्थल के बीच गलियारे बनाने की योजना का भी जिक्र किया गया. उन्होंने कहा कि पूरे देश ने इंसाफ के लिए 35 सालों तक इंतजार किया और वे चाहते हैं कि इसके लिए कांग्रेस के नेताओं को सजा मिले. उन्होंने कहा, ‘आज भी उनकी मांग यही है.

उन्होंने कहा कि ‘एक परिवार’ के निर्देश पर ऐसे अपराधियों की फाइलें दबा दी गयी थीं. उनका इशारा गांधी परिवार की ओर था. उन्होंने कहा कि यह (कांग्रेस) ऐसे लोगों से बनी है ‘जो आज भी वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाने का विरोध करते हैं, जिसका इतिहास सुनियोजित तरीके से हजारों सिखों का नरसंहार करने का है और जो आज भी दंगा आरोपी को मुख्यमंत्री की कुर्सी से नवाजती है.

(इनपुट-भाषा)