कोकराझार (असम): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि लोगों के सहयोग के कारण ही बोडो शांति समझौता हुआ और असम में शांति की नयी सुबह हुई. समझौते पर 27 जनवरी को हुए हस्ताक्षर का जश्न मनाने के लिए एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि अब पूर्वोत्तर की शांति और विकास के लिए एक साथ मिलकर काम करने का वक्त है. गौरतलब है कि इस समझौते से असम में शांति कायम होने की उम्मीद की जा रही है.

 

रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम अब हिंसा को लौटने नहीं देंगे. उन्होंने नये नागरिकता कानून के लागू होने को लेकर क्षेत्र के लोगों की चिंताओं को भी दूर करने का प्रयास किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि झूठी अफवाहें फैलाई जा रही है कि सीएए लागू होने के बाद बाहर के लाखों लोग यहां आ जाएंगे. मैं असम के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि ऐसा कुछ भी नहीं होगा. उन्होंने कहा कि बोडो समझौता समाज के सभी समुदायों और वर्गों के लिए जीत है. कोई भी हारा नहीं है.

कोकराझार में मोदी की रैली में जुटे लाखों
असम के कोकराझार में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भाग लेने के लिए लाखों की संख्या में लोग हाथों में तिरंगा लहराते नजर आए. हाल ही में हस्ताक्षरित बोडो शांति समझौते का जश्न मनाने के लिए यहां लोग इकट्ठा हुए. गुवाहाटी से लगभग 216 किलोमीटर दूर जंगकृताई फवाटार स्थित रैली स्थल पर कड़ी सुरक्षा के बीच लोग गुरुवार रात से ही आ रहे थे. नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पास होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की यह पहली असम यात्रा है. दिसंबर माह में कानून बनने के बाद यहां इसके विरोध में काफी प्रदर्शन देखने को मिले थे. ट्रेनों और वाहनों से यहां आने वाले लोगों को लेने लगभग सात हजार वॉलंटियर्स पहुंचे.

त्योहार की तरह लोगों ने मनाया जश्न
कोकराझार में मोदी की यात्रा के मद्देनजर लोग बैनर और बड़े होर्डिग्स के साथ आए, जिसमें शांति समझौते के लिए ‘धन्यवाद’ लिखा गया है. त्योहार की तरह जश्न मनाने के लिए गुरुवार रात 70 हजार मिट्टी के दीप जलाए गए. इसकी तस्वीरों और दृश्यों को प्रधानमंत्री मोदी ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल से शेयर किया था. मोदी ने इस बाबत ट्वीट कर इसे असम का नया सवेरा करार दिया था. उन्होंने कहा कि असम में एक नई सुबह, नया जोश और नई उम्मीद! बोडो समझौते से युवाओं को उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने में मदद मिलेगी. मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने राज्य के लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए मोदी के ‘लगातार प्रयासों’ की सराहना की और उन्हें इसका श्रेय दिया. सोनोवाल ने ट्वीट किया कि आदरणीय मोदी जी, असम के लिए आपके द्वारा शुरू किए गए अभियान और निरंतर प्रयास इन परिवर्तनों को ला रहे हैं. असम के लोग आपका आभार व्यक्त करते हैं.