नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण की शुरुआत जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने को लेकर की. उन्होंने कहा कि धारा-370 की वजह से जम्मू-कश्मीर में 42 हजार से अधिक जानें गईं, जम्मू-कश्मीर के बच्चों का क्या गुनाह था. वहां की बेटियों से नाइंसाफी हुई. पीएम मोदी ने कहा कि सरकार के कदम से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों का जीवन अब बदलने वाला है.Also Read - Constitution Day 2021: 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास' संविधान की भावना की सशक्त अभिव्यक्ति- PM मोदी

Also Read - Constitution Day: संसद और सुप्रीम कोर्ट सहित कई समारोहों में शामिल होंगे पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में रिक्त पदों को जल्द भरा जाएगा. स्थानीय नौजवानों को रोजगार के अवसर मिलेंगे. कुछ समय के लिए जम्मू-कश्मीर सीधे केंद्र सरकार के शासन के अधीन. जम्मू-कश्मीर का राजस्व घाटा कम किया जाएगा. पीएम ने कहा कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन में नई कार्यशैली का प्रयास होगा. नई व्यवस्था में केंद्र की ये प्राथमिकता रहेगी कि राज्य के कर्मचारियों को, जम्मू-कश्मीर पुलिस को, दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों और वहां की पुलिस के बराबर सुविधाएं मिलें. Also Read - Rajasthan: BJP की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक अगले माह, अमित शाह भी होंगे शामिल

पीएम मोदी ने कहा कि नई व्यवस्था में केंद्र की ये प्राथमिकता रहेगी कि राज्य के कर्मचारियों को, जम्मू-कश्मीर पुलिस को, दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों और वहां की पुलिस के बराबर सुविधाएं मिलें. जम्मू-कश्मीर में पहले की तरह जनप्रतिनिधि चुने जाएंगे. सांसद और मुख्यमंत्री चुने जाएंगे. हमारा जम्मू-कश्मीर एक बार फिर विकास की नई ऊंचाई छुएगा. जब धरती का स्वर्ग हमारा जम्मू कश्मीर फिर एक बार विकास की नई ऊंचाइयों को पार करके पूरे विश्व को आकर्षित करने लगेगा, नागरिकों के जीवन में ईज ऑफ लिविंग बढ़ेगी. नागरिकों को जो उनके हक का मिलना चाहिए, वह बेरोकटोक मिलने लगेगा.