मुंबईः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि पुरानी सरकारों का स्वभाव था लटकाना, अटकाना, भटकाना. करीब 10 लाख करोड़ के प्रोजेक्ट्स ऐसे ही लटके, अटके, भटके हुए थे. हमने उनको क्रियान्वित किया, धन का प्रबंध किया और आज तेज गति से वो काम आगे चल रहे हैं. उसी में से एक नवी मुंबई एयरपोर्ट का काम है. इस हवाई अड्डे के बनने के बाद मुंबई हवाई अड्डे का बोझ कम होगा. Also Read - ट्रंप के पीएम मोदी से बात करने के दावे पर उठे सवाल, भारत सरकार ने दिया ये स्पष्टीकरण

पीएम मोदी ने कहा कि एविएशन सेक्टर तेजी से आगे बढ़ रहा है. इसके विकास के लिए क्वालिटी इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत है. हमारी सरकार ने एक ऐसी एविएशन पॉलिसी बनाई है जो कि इस सेक्टर में बदलाव ला रही है. पीएम ने कहा कि एविएशन सेक्टर की ताकत देश के टूरिज्म को बल देगी. ग्लोबलाइजेशन आज के दौरा की सच्चाई है इसके लिए हमें टॉप क्वालिटी के इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत है. Also Read - महाराष्‍ट्र में कोरोना से आज 85 मौतें के साथ अब तक करीब 2000 मृत, कुल 60 हजार पॉजिटिव केस

दूसरी ओर रायगढ़ जिले के शिवसेना के विधायकों व सांसदों ने शनिवार को आरोप लगाया था कि बीजेपी नीत महाराष्ट्र सरकार ने जानबूझ कर शिवसेना के स्थानीय सांसदों और विधायकों को नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के शिलान्यास कार्यक्रम में नहीं बुलाया. रायगढ़ जिले के शिवसेना के विधायकों व सांसदों ने कहा कि बीजेपी नीत महाराष्ट्र सरकार ने जानबूझ कर शिवसेना के स्थानीय सांसदों और विधायकों को नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के शिलान्यास कार्यक्रम में नहीं बुलाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार दोपहर हवाई अड्डे का शिलान्यास किया.

शिवसेना ने किया कार्यक्रम का बायकॉट
शिवसेना के स्थानीय विधायक मनोज भोइर ने आरोप लगाया कि उन्हें और मावल से सांसद श्रीरंग बार्ने को जानबूझ कर कार्यक्रम में नहीं बुलाया गया था. भोइर ने एक बयान में कहा कि यह राज्य द्वारा आयोजित कार्यक्रम था जिसे प्रधानमंत्री मोदी के हाथों से करवाया गया. यह हवाई अड्डा मेरे निर्वाचन क्षेत्र रायगढ़ जिले में स्थित है. हमारे सांसद श्रीरंग बर्ने लोकसभा में इसी इलाके का प्रतिनिधित्व करते हैं और फिर भी हम दोनों को ही आमंत्रित नहीं किया गया जो कि नयाचार का उल्लंघन है. शिवसेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि पार्टी का कोई भी सांसद या विधायक इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुआ.