नई दिल्ली: दुनिया भर में इस समय भारत में तेजी से कोरोना फैल रहा है. शनिवार को एक बार फिर देशभर में लगभग 90 हजार नए कोरोना के मामले सामने आए. भारत में अब तक 53 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. देश इस समय अब कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद अनलॉक 4.0 के चरण में है और ऐसे में कोरोना का तेजी से प्रसार खतरे की आशंका को पैदा कर रहा है. इस बीच माना जा रहा है कि कोरोना वायरस संबंधी स्थिति की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संभवत: अगले सप्ताह सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता करने की संभावना है. Also Read - कोरोना टेस्ट होने तक पायल घोष रहेंगी आइसोलेट, रामदास अठावले की मौजूदगी में पार्टी में हुई थीं शामिल

फिलहाल अभी इस बारे में पूरी तरह से पुष्टि नहीं की जा सकती लेकिन सूत्रों ने बताया कि 23 सितंबर को पीएम मोदी और देशभर के राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक होने की संभावना है. उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री इस बैठक में शामिल होंगे. Also Read - ज्यादा समय तक वायु प्रदूषण का सामना करने वाले होशियार, कोरोना से मौत का खतरा बढ़ा

प्रधानमंत्री देशभर में महामारी संबंधी हालात की समीक्षा के लिए नियमित रूप से बैठक कर रहे हैं. इन बैठकों में उन राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है, जहां स्थिति ज्यादा गंभीर है. Also Read - कोरोना के चलते काली हो गई थी चीन के इस डॉक्टर की त्वचा, अब नॉर्मल होकर लौटा; साथी गंवा चुका है जान

इससे पहले, मोदी ने कोविड-19 संबंधी स्थिति की समीक्षा के लिए 11 अगस्त को आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, पंजाब, बिहार, गुजरात, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों एवं प्रतिनिधियों के साथ बैठक की थी.

(इनपुटः भाषा)