नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार यानी आज पश्चिम बंगाल में विश्वभारती यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में भाग लिया. इस दौरान पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदी धनखड़, केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल भी मौजूद रहे. दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे लिए दीक्षांत समारोह का हिस्सा बनना प्रेरक है.Also Read - Rahul Gandhi का Twitter पर आरोप-मेरे फॉलोअर्स घट रहे हैं, किसी दबाव में काम कर रहे? मिला ये जवाब

पीएम मोदी ने आगे कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज की आज जयंती भी है. शिवाजी उत्सव नाम से गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर ने एक कविता भी लिखी थी. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि रविंद्र नाथ टैगोर ने एकता का जो संदेश दिया था, उसे कभी भूलना नहीं है. इस विश्वविद्यालय ने भारत की आत्मा को जिंदा रखा है और इसकी पहचान को आगे बढ़ाने का काम किया है. Also Read - Pariksha Pe Charcha 2022: परीक्षा पे चर्चा के लिये रजिस्‍ट्रेशन की आज आखिरी तारीख, जल्‍दी करें

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आगे कहा कि यह संस्था गुरुदेव के लिए सिर्फ ज्ञान परोसने वाली संस्था नहीं थी, यह भारतीय संस्कृति को शीर्ष पर पहुंचाने की भावना है. गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर ये मानते थे कि विचारधाराओं में विविधता होगी लेकिन सभी को साथ लेकर चलना होगा. Also Read - गणतंत्र दिवस Special-गाडिय़ों की झाँकी-Watch Video