नई दिल्ली: कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में दिए अपने वक्तव्य में बिहार में इंसेफेलाइटिस से हो रही बच्चों की मौत, बेरोजगारी और कृषि संकट जैसे मुद्दों का जिक्र नहीं करके देश को निराश किया.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में रखे गये धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कृषि से लेकर उद्योग,बेरोजगारी और अंततः बिहार में महामारी का रुप ले रही इंसेफेलाइटिस की बीमारी जैसे मुद्दों का उल्लेख न करके, देश के लोगों को पूर्णतया निराश किया है.’

इमरजेंसी, ट्रिपल तलाक से लेकर शेरो-शायरी तक, पढ़ें लोकसभा में PM मोदी की स्पीच की 12 बड़ी बातें

उन्होंने दावा किया, ‘प्रधानमंत्री ने अपने टालमटोल पूर्ण रवैये से देश के आम लोगों की आँखों में धूल झोंकने का प्रयास किया, जैसे कि वो अभी भी चुनाव प्रचार में है.’ चौधरी ने कहा, ‘ हमें अपेक्षा थी कि प्रधानमंत्री अपने रवैये से सभी दलों के बीच अच्छा सामंजस्य स्थापित करने का प्रयास करेंगे जिससे आने वाले दिनों में संसद सुचारु और सकारात्मक तरीके से चल सके, परंतु इसका अभाव दिखा.’