नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के 807वें उर्स के अवसर पर अपनी ओर से चादर चढ़ाने के लिए शनिवार को अजमेर शरीफ के दरगाह के एक प्रतिनिधिमंडल को इसे सौंपा. केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के मुताबिक अजमेर शरीफ दरगाह के दोनों अंजुमनों और दरगाह कमिटी के सदर एवं मुस्लिम समुदाय के प्रमुख लोगों के प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री मोदी से भेंट कर “समावेशी विकास” और देश की सुरक्षा के उनके मजबूत संकल्प के लिए बधाई दी. Also Read - सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मांग- पीएम केयर्स फंड को जनता केयर फंड बनाया जाए, क्योंकि...

Also Read - कोरोना पर मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग, PM मोदी ने कहा- टेस्ट, कांटेक्ट ट्रेसिंग, इलाज और निगरानी पर ध्यान देने की ज़रूरत

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को अपनी तरफ से 807वें उर्स के अवसर पर ख्वाजा अजमेर शरीफ दरगाह में पेश की जाने वाली चादर और सन्देश इस प्रतिनिधिमंडल के सुपुर्द किया. नकवी के नेतृत्व में प्रधानमंत्री से मिले इस प्रतिनिधिमंडल ने मोदी की दस्तारबंदी की और मुल्क की खुशहाली, सौहार्द, सुरक्षा की दुआ की. Also Read - केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा- 'एक साल के लिए निलंबित हों हंगामा करने वाले सांसद'

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने विंग कमांडर अभिनंदन से की मुलाकात, कहा- आप पर गर्व है

नकवी के मुताबिक प्रतिनिधिमंडल ने विश्वास दोहराया की मोदी के नेतृत्व में देश और देश के लोग सुरक्षित हैं और दुनिया भर में भारत का गौरव बढ़ा है. प्रतिनिधिमंडल में सय्यद मोईन हुसैन, शेखजादा अब्दुल जरार चिश्ती, शेखजादा अब्दुल मजीद चिश्ती, सईद अफशान अहमद चिश्ती, मुज़फ्फर अली, कमर आगा, शकुलसूम सैफुल्ला, अमीन पठान, सय्यद हम्माद निज़ामी, सिराजुद्दीन कुरेशी आदि शामिल थे.