झारसुगुडा (ओडिशा): पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को झारसुगुडा में एक नए एयरपोर्ट का उद्घाटन किया और कहा कि यह हवाई अड्डा निवेशकों को खनिज संपदाओं से समृद्ध इस क्षेत्र के प्रति आकर्षित करेगा और राज्य के पश्चिमी क्षेत्र में जीवनरेखा का काम करेगा. पीएम ने कहा कि यह हवाईअड्डा राज्य को आधुनिक और विकसित राज्य में तब्दील करने में कारगर साबित होगा. ये एयरपोर्ट 285 करोड़ रुपए  से तैैैैयार हुुुुआ है. Also Read - PM मोदी ने सोशल वर्कर्स से कहा, Coronavirus पर गलत सूचना और अंधविश्वास को दूर करें

मोदी ने कहा कि ओडिशा में इतने वर्षों से महज एक बड़ा हवाई अड्डा है, जबकि अकेले गुजरात के कच्छ जिले में पांच हवाई अड्डे हैं. उन्होंने कहा, ”अब, राज्य का यह दूसरा हवाई अड्डा ओडिशा के पश्चिमी क्षेत्र में जीवनरेखा का काम करेगा और निवेशकों को खनिज संपदाओं से समृद्ध इस क्षेत्र के प्रति आकर्षित करेगा.” Also Read - Covid-19: कोरोनावायरस से लड़ने के लिए सांसद निधि से 35 सांसद देंगे एक-एक करोड़ रुपये

285 करोड़ रुपए की लागत
भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने ओडिशा सरकार के साथ मिलकर 210 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से झारसुगुडा हवाई अड्डे का निर्माण किया है. राज्य सरकार ने 75 करोड़ रुपए का योगदान दिया. यह हवाई अड्डा 1,027.5 एकड़ क्षेत्र में फैला है.

ओडिशा में पीएम मोदी का राज्य सरकार पर हमला, भ्रष्टाचार और निर्णय में देरी बीजद की पहचान

 950 नए एयरपोर्ट बनाने के लिए उठाए कदम
मोदी ने ने कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली सरकार विमानन क्षेत्र की मजबूती के लिए ठोस कदम उठा रही है. आजादी से लेकर अबतक देश में बस 450 हवाई अड्डे थे, जबकि पिछले एक साल में 950 नए हवाई अड्डों के लिए कदम उठाए गए हैं. पीएम ने कहा कि ओडिशा, पश्चिम बंगाल, असम समेत समेत पूर्वी भारतीय राज्यों का विकास देश का संतुलित विकास करने के लिए जरूरी है.

पीएम मोदी ने सीएम पटनायक से की अपील, ओडिशा के लोगों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़े

स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर एयरपोर्ट का नाम
पीएम ने कहा कि नए एयरपोर्ट का नाम स्वतंत्रता सेनानी वीर सुरेंद्र साई के नाम पर रखा गया है. ओड़िशा सरकार ने इसकी मांग की थी. सीएम नवीन पटनायक ने अपने भाषण में इस हवाई अड्डे का नाम साई के नाम पर रखने पर पीएम को धन्यवाद दिया और कहा कि झारसुगुडा से नियमित वाणिज्यिक उड़ानें शीघ्र शुरू करने के लिए कदम उठाए जाने वाहिए. राज्य ने इस हवाई अड्डे की स्थापना के लिए जमीन और मुफ्त बिजली दी है.

राफेल विवादः ओलांद के दावे के बाद फ्रांस की सरकार ने कहा- रिलायंस के चुनाव में हमारी कोई भूमिका नहीं

गर्जन बहाल ओपेन कास्ट खदान का भी उद्घाटन
मोदी ने महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड (एमसीएल) की गर्जन बहाल ओपेन कास्ट खदान का भी उद्घाटन किया जिसमें 23 करोड़ टन का कोयला ब्लॉक भंडार है और उसकी सलाना उत्पादन क्षमता 1.3 करोड़ टन है. इससे 894 लोगों को रोजगार के प्रत्यक्ष और 5000 लोगों को रोजगार के परोक्ष अवसर मिलेंगे.

झारसुगुडा-सरडेगा रेल लाइन का शुभारंभ
पीएम ने 53.1 किलोमीटर लंबी झारसुगुडा सरडेगा रेल लाइन का भी शुभारंभ किया जिसका निर्माण एमसीएल ने किया है. उन्होंने कहा कि इस रेल लाइन से जनजाति बहुल इस क्षेत्र में कनेक्टिविटी मजबूत होगी. मोदी ने सुंदरगढ़ जिले में एनटीपीसी की दुलंगा कोयला खनन परियोजना राष्ट्र को सौंपी. यह चालू होने वाली इस सरकारी कंपनी की दूसरी और राज्य में उसकी पहली खान है.