PM MOdi Meeting: देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए और उसे रोकरने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई जिलों के जिलाधिकारियों से आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के मुताबिक, बैठक में कर्नाटक, बिहार, असम, चंडीगढ़, तमिलनाडु, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, गोवा, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के अधिकारियों ने हिस्सा लिया. Also Read - मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में हो सकता है फेरबदल, प्रधानमंत्री ने केंद्रीय मंत्रियों के साथ की बैठक

पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि आप अपने जिलों के चैलेंज को बहुत बेहतर तरीके से समझते हैं. जब आपका जिला जीतता है तो देश जीतता है. जब आपका जिला कोरोना को हराता है तो देश कोरोना को हराता है. हम इसलिए कहते हैं कि आपसब ये प्रण लें कि मेरा गांव मैं कोरोना मुक्त रखूंगा, कोरोना को नहीं घुसने दूंगा. गांव के लोग ये संकल्प लें. सब मिलकर ये सोचेंगे तभी हम जीत सकेंगे. Also Read - International Day of Yoga 2021: योग दिवस समाराहों को लेकर पीएम मोदी ने श्रीलंका, ब्राजील के राष्ट्रपतियों को लिखा पत्र

पीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में आप सब लोग एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका में हैं. आप एक तरह से इस युद्ध के फील्ड कमांडर हैं. फील्ड कमांडर बड़ी योजना को मूर्त रूप देता है, जमीन पर लड़ाई लड़ता है और परिस्थिति के अनुसार निर्णय लेता है. Also Read - जम्मू-कश्मीर की सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ 24 जून को बैठक करेंगे पीएम मोदी, फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को भेजा निमंत्रण

वायरस के खिलाफ हथियार हैं लोकल कंटेनमेंट जोन, एग्रेसिव टेंस्टिंग और लोगों तक सही और पूरी जानकारी। कालाबाजारी पर लगाम हो, ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई हो या फ्रंटलाइन वर्कर्स का मोरल हाई रखकर उन्हें मोबलाइज करना हो फील्ड कमांडर के रूप में आपके प्रयास जिले को मजबूती देते हैं.

बीते एक साल में हर बैठक में मेरा यही आग्रह रहा है कि हमारी लड़ाई एक-एक जीवन बचाने की है। टेस्टिंग, ट्रैंकिंग, आईसोलेशन, ट्रीटमेंट और कोविड अनुरूप व्यवहार पर लगातार बल देना जरूरी है। कोरोना की इस दूसरी वेव में हमें ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्रों में बहुत ध्यान देना है.

हमें गांव-गांव में जागरुकता भी बढ़ानी है और उन्हें कोविड के इलाज की सुविधाओं से जोड़ना है। बढ़ते हुए मामलों और संसाधनों की सीमाओं के बीच लोगों की अपेक्षाओं को उचित समाधान देना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है.