नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मीडिया को दिए अपने इंटरव्यू में वर्ष 2018 को सरकार और भाजपा के लिए सफल वर्ष करार दिया. एएनआई को दिए अपने इंटरव्यू के दौरान उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाएं गिनाते हुए कहा कि इन योजनाओं की सफलता को देखकर यह नहीं कहा जा सकता कि हमारे लिए यह साल अच्छा नहीं गुजरा. पीएम मोदी ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा को मिली हार के सवाल का जवाब देते हुए यह बात कही. उन्होंने कहा कि इन राज्यों में भाजपा की हार सिक्के का सिर्फ एक पहलू है. इसका दूसरा पहलू देखें तो आपको सरकार की आयुष्मान भारत योजना की सफलता दिखेगी, जिसके तहत कुछ ही महीनों में कई लाख लोगों को सस्ता इलाज मुहैया हो सका है.

2019 में पीएम मोदी का पहला इंटरव्यू, कहा- लोकसभा का चुनाव जनता बनाम महागठबंधन होगा

पीएम मोदी ने वर्ष 2018 में केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई योजनाओं को सफल करार देते हुए कहा कि इससे लोगों को लाभ पहुंचा है. उन्होंने कहा, ‘2018 हमारे लिए सफल वर्ष रहा. विधानसभा चुनाव इसका सिर्फ एक पक्ष है. अगर आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीबों को 5 लाख रुपए तक की बीमे की सुविधा मिल रही है, तो यह बड़ी संख्या है. आज लाखों लोग सेहत की समस्या से पीड़ित हैं जिन्हें इलाज की जरूरत है, अगर ऐसे लोगों को इस योजना से लाभ मिला है तो यह सरकार की सफलता है. ऐसे में हम कैसे कह सकते हैं कि 2018 हमारे लिए अच्छा नहीं गुजरा.’

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की हार को लेकर भी पीएम मोदी ने अपनी बातें रखीं. इंटरव्यू के दौरान मोदी ने कहा, ‘विधानसभा चुनाव के मामले में दो बातें हैं. तेलंगाना और मिजोरम में भाजपा को सीटें मिलने को लेकर कोई कयास नहीं लगाया गया. छत्तीसगढ़ में जनता ने स्पष्ट जनादेश दिया, वहां भाजपा की हार हुई. लेकिन अन्य दोनों राज्यों में त्रिशंकु विधानसभा का परिणाम आया. जहां तक मध्यप्रदेश और राजस्थान के चुनाव की बात है तो 15 वर्षों का एंटी-इनकंबेंसी फैक्टर था, वहां इसी बात को लेकर लड़ाई थी. हम लोग इस मामले पर विमर्श कर रहे हैं कि इन चुनावों के दौरान क्या कमी रह गई.’