नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज साल 2019 के पहले दिन समाचार एजेंसी एएनआई को इंटरव्यू दिया. इस दौरान उन्होंने राम मंदिर, सर्जिकल स्ट्राइक, जीएसटी, विधानसभा चुनाव, अर्थव्यवस्था, किसान, राफेल डील, मध्यम वर्ग, नोटबंदी, देश से पैसा लेकर भागने वालों, सबरीमाला, ट्रिपल तलाक, अगस्ता वेस्टलैंड मामला सहित केंद्र सरकार की योजनाओं आदि विषयों पर खुलकर अपने विचार रखे. साक्षात्कार के दौरान पीएम मोदी ने हर विषय या मुद्दों पर बेबाकी से बयान दिया. जीएसटी के मुद्दे पर पूछे गए सवाल और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर भी उन्होंने अपनी बातें रखीं. राहुल द्वारा जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कहे जाने को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि जो जैसा सोचता है, उसकी बातें वैसी ही होती हैं.

पढ़िए पीएम मोदी के इंटरव्यू की 25 बड़ी बातें…

1. पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा को मिली हार के सवाल का जवाब देते हुए पीएम ने कहा कि भाजपा की हार सिक्के का सिर्फ एक पहलू है. इसका दूसरा पहलू देखें तो आपको सरकार की कई योजनाएं दिखेंगीं, जो सफल हुई हैं. आयुष्मान भारत जैसी योजना है, जिससे कई लाख लोगों को सस्ता इलाज मुहैया हो सका है.

2. राज्यों में हार पर हम लोग इस मामले पर विमर्श कर रहे हैं कि इन चुनावों के दौरान क्या कमी रह गई.

3. राम मंदिर पर अध्यादेश तभी आ सकता है जब राम मंदिर से जुड़ी कानूनी प्रक्रिया पूरी होगी. मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है. कानूनी प्रक्रिया बेहद धीमी चली क्योंकि कांग्रेस के वकीलों ने इसमें बाधा उत्पन्न की. मैंने पहले ही कहा है कि बीजेपी इसका समाधान संविधान के दायरे में रहते हुए ही करेगी. पीएम मोदी का इस मामले से जुड़ा ये बड़ा बयान है.

4. आरबीआई के गवर्नर रहे उर्जित पटेल के बारे में बताना चाहता हूं कि उन्होंने मुझे इस्तीफे के 6-7 माह पहले ही इस बारे में बता दिया था. उन पर कोई राजनीतिक दबाव नहीं था. भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में उर्जित पटेल ने बेहतरीन काम किया है.

5. नोटबंदी कोई झटका नहीं था. सरकार ने काले धन को लेकर पहले ही चेतावनी दी थी. बैंकों में नोट बोरों में भरकर आये थे, ये सबके देखा. काले धन वालों पर सरकार की नजर है.

6. नेहरू-गांधी परिवार को लेकर कहा कि ‘यह एक तथ्य है कि देश में एक परिवार की चार पीढ़ी ने शासन किया, मगर आज उसके कई सदस्य जमानत पर चल रहे हैं. उनके ऊपर आर्थिक अनियमितता के आरोप हैं. यह बड़ी बात है. कुछ लोगों के समूह ने अपने स्वार्थ सिद्ध किए और देश को बरगलाया.

7. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान ने बॉर्डर पर हमले किए. एक लड़ाई से पाकिस्तान सुधर जाएगा, ये सोचना बहुत बड़ी गलती होगी. पाकिस्तान को सुधारने में अभी और समय लगेगा.

8. राहुल द्वारा जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कहे जाने को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि जो जैसा सोचता है, उसकी बातें वैसी ही होती हैं. क्या केंद्र सरकार ने जीएसटी को लागू करने से पहले देश की सभी राजनीतिक पार्टियों से सहमति नहीं ली थी? जब प्रणब मुखर्जी देश के वित्त मंत्री थे, उसी समय जीएसटी की प्रक्रिया शुरू हुई थी.

9. कांग्रेस के लोग भी कहते हैं कि कांग्रेस एक विचार, एक संस्कृति है. जब मैं कांग्रेस-मुक्त देश की बात करता हूं तो इसका सीधा और स्पष्ट आशय है कि देश को कांग्रेस की बनाई संस्कृति से निजात दिलाना. और मैं यह कहता हूं कि कांग्रेस भी कांग्रेसी संस्कृति से निजात पाना चाहती है.

10. जो भी लोग देश का पैसा लेकर भागे हैं, सरकार आज नहीं तो कल उन्हें कूटनीतिक तरीकों से वापस लेकर आएगी. देश का धन कहीं भी नहीं जाएगा. मेरी सरकार के कार्यकाल के दौरान जो लोग भी देश छोड़कर फरार हुए हैं, उन्हें वापस लाया जाएगा. आज नहीं तो कल.

11. जिन्होंने भी देश के धन की चोरी की है, उन्हें एक-एक पैसा चुकाना होगा. कोई भी हमारे देश का पैसा लेकर भाग नहीं सकता.

12. दुनिया के कई इस्लामिक देशों ने तीन तलाक पर प्रतिबंध लगाया है. इसलिए ये सम्प्रदाय का आस्था का मसला नहीं है. अगर ऐसा होता तो ट्रिपल तलाक चलता होता. यहां तक कि पाकिस्तान में इस पर कानूनन रोक है. इसका मतलब ये जेंडर इक्वालिटी का मसला बनता है. सामाजिक न्याय का मसला बनता है.

13. सबरीमाला पर कहा- मंदिर का अपना मसला है. एक छोटे से दायरे में मंदिर में अपनी मान्यताएं हैं. बहुत सारे मंदिर ऐसे होते हैं जहाँ पुरुष नहीं जा सकते. सबरीमला मामले में महिला जजों के जजमेंट को बारीक से पढ़ने की जरूरत है. इसमें राजनीति करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने महिला होने के नाते फैसला दिया, उस पर भी कभी न कभी चर्चा होनी चाहिए.

14. राज्यों में कर्जमाफी के नाम पर किसानों को कांग्रेस ने लॉलीपॉप दिया. कांग्रेस कहती है कि कर्जमाफी कर दी, लेकिन पहले इसका सर्कुलर देखें. कांग्रेस को मिसलीड नहीं करना चाहिए. कर्जमाफी से किसानों का जीवन सुधरने वाला नहीं. हमने किसानों को फसल की लागत से डेढ़ गुना ज्यादा दिया.

15. यूपीए या एनडीए ने पाकिस्तान को लेकर कभी गलत नहीं बोला. जो भी है, वो देश की पॉलिसी है, मनमोहन सिंह सरकार या मोदी सरकार की पॉलिसी नहीं. लड़ाई और गोलियों की आवाज़ के बीच बातचीत न हो सकती है और न सुनी जा सकती है.

16. डोकलाम को लेकर भारत ने कुछ नहीं किया, जबकि हम कर सकते थे, लेकिन हमारा सिद्धांत हैं कि हम शांति चाहते हैं.

17. कांग्रेस वर्कर अगर क्रिश्चियन मिशेल (अगस्त वेस्ट लैंड हेलीकॉप्टर खरीद का बिचौलिया) की मदद कर रहे हैं तो ये चिंता की बात है. लोगों को गर्व होना चाहिए कि वो ‘राजदार’ अब कानूनी दायरे में है. और सच सामने आयेगा. कांग्रेस उसे बचाने के लिए वकील भेज रही है.

18. लोकसभा चुनाव जनता वर्सेस महागठबंधन होगा. देश के आम नागरिक पर अविश्वास नहीं करना चाहिए. स्वार्थ के लिए ये लोग आपस में जुड़ रहे हैं.

19. मॉब लिंचिंग पर कहा- देश में हिंसा को कोई स्थान नहीं. मुस्लिमों में चिंता है, के सवाल पर कहा कि ऐसी कोई भी घटना शोभा नहीं देता है. समाज के दुःख को हमें समझना चाहिए. क्या ऐसी घटनाएं 2014 से पहले नहीं होती थीं? हम सबका साथ, सबका विकास की बात करते हैं. हम ऐसी घटनाओं के पक्ष में नहीं.

20. ‘3जी, टू जी, सीडब्ल्यूजी, दामादजी’ या ऐसे ही जिन भ्रष्टाचार की बात की जाती थी, लेकिन कोई जेल क्यों नहीं गया, के सवाल पर पीएम ने कहा- कई लोग जमानत पर भी हैं. देश के कानून ने उन्हें जमानत दी है. ये बड़ी बात है कि चार पीढ़ियों से जिन्होंने देश पर राज किया वो जमानत पर हैं.

21. राफेल को लेकर कांग्रेस के पास कोई सुबूत नहीं. इस पर विवाद करना सेना को कमजोर करना है. मेरे ऊपर कोई व्यक्तिगत आरोप नहीं है. सरकार पर आरोप है. सुप्रीम कोर्ट में सब साफ हो चुका है.

22. सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान सैनिकों को लेकर चिंतित था. उरी की घटना ने चिंतित किया. सेना से बात की मैंने और सैनिकों को हमले के लिए खुली छूट दी.

23. पहले पीएम की विदेश यात्रा पर कोई ध्यान नहीं देता था. मैंने कम खर्चे पर ज़्यादा काम किया.

24. मिडिल क्लास को कम नहीं आंकना चाहिए. मिडिल क्लास करना हमारा दायित्व है.

25. मोदी जनता के प्यार और अभिव्यक्ति. मैंने जो भी किया, वो सही या गलत, ये फैसला जनता करेगी. बीजेपी हर वर्ग की पार्टी.