नेता की जबान और जनता पर विश्वास का कमान दोनों होना चाहिए। लेकिन अगर नेता ही अपनी मर्यादा लांघ जाए तो क्या कहना। आम आदमी पार्टी की जब से दिल्ली में सरकार बनी है तब से कोई न कोई विवाद उनसे जुड़ा ही रहता है। पहले दिल्ली से सीएम ने अपनी मर्यादा लांघते हुए पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी की थी। अब केजरीवाल शांत हुए तो उनके आप पार्टी नेता बोलने लगे। आम आदमी पार्टी के इस नेता ने पीएम मोदी पर की अब तक की सबसे गंदी टिप्पणी।

आम आदमी पार्टी के नेता कपिल मिश्रा ने दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान लोगो को भाषण देते देते अपनी मर्यादा भूल गए और उन्होंने कहा की केंद्र सरकार और मोदी दोनों नपुंसक हैं। इस बयान के बाद अब मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। कपिल मिश्रा से पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी को कायर कहा था। इस बयान के बाद केजरीवाल की जमकर आलोचना हुई थी और वो काफी दिनों तक विवादों से घिरें थे।

कपिल मिश्रा ने यह बयान उस वक्त दिया जब वो शहीद सैनिकों और उनकी विधवाओं को सम्मानित करने के समारोह में पूठ खुर्द गावं में गए थे। इस बयान के बाद अब बीजेपी फिर से आम आदमी पार्टी पर पलटवार करने का मन बना रही है। लेकिन नेताओं का बयान अगर इस तरह से होगा तो जनता को अनुशान और मीठी वाणी बोलने के लिए कैसे आप प्रेरित करेंगे। यह भी पढ़ें: सीबीआई छापे के पीछे कायर मोदी का हाथ: केजरीवाल