नई दिल्ली: 59 चायनीज ऐप्स को बैन करने के बाद अब भारत सरकार ने ऐप इनोवेशन चैलेंज शुरू किया है. इस ऐप इनोवेशन चैलेंज का मकसद देश में ‘आत्मानिर्भर ऐप इकोसिस्टम’ बनाना है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इसकी शुरुआत की.Also Read - अगले लोकसभा चुनाव को लेकर बोले रामदास अठावले, '2024 में खेला नहीं सत्ता के लिए मोदी का मेला होगा'

प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को ट्वीट करके कहा कि वह आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज लॉन्च करने जा रहे हैं. मोदी ने लिखा, ‘आज मेड इन इंडिया ऐप्स बनाने के लिए तकनीकी और स्टार्टअप समुदाय के बीच अपार उत्साह है. इसलिए @GoI_MeitY और @AIMtoInnovate मिलकर इनोवेशन चैलेंज शुरू कर रहे हैं.’ Also Read - New Education Policy: राष्ट्रीय शिक्षा नीति के एक साल पूरा होने के अवसर पर प्रधानमंत्री करेंगे कार्यक्रम को संबोधित

Also Read - दिलीप घोष बोले- ममता बनर्जी 'भीख' के लिए PM मोदी से मिलना चाहती हैं, TMC ने कहा- जाहिलों जैसी बात न करें

प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर आपके पास कोई ऐसा प्रोडक्ट है या फिर आपको लगता है कि कुछ अच्छा करने का दृष्टिकोण और क्षमता है तो टेक कम्युनिटी के साथ जुड़ जाइए. प्रधानमंत्री मोदी ने लिंक्डइन पर अपने विचार रखे हैं.

बता दें कि सरकार ने इस सप्ताह चीन से संबंध रखने वाली जिन 59 ऐप पर रोक लगाई है, उन्हें गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर ने भारत में हटा दिया है. इससे देश में मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं की इन ऐप तक पहुंच बंद हो गयी है. भारत सरकार ने इस सप्ताह सोमवार को टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयरइट और वीचैट सहित चीन की 59 ऐप पर रोक लगाते हुये कहा कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये नुकसानदेह हैं.