लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जल जीवन मिशन, उत्‍तर प्रदेश के अन्‍तर्गत विंध्‍य क्षेत्र के मिर्जापुर एवं सोनभद्र जिलों की 23 ग्रामीण पाइप पेयजल परियोजनाओं का शिलान्‍यास वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्‍यम से किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत घर-घर पाइप से पानी पहुंचने की वजह से माताओं-बहनों का जीवन आसान हो रहा है. इसका एक बड़ा लाभ गरीब परिवारों के स्वास्थ्य को भी हुआ है. इससे गंदे पानी से होने वाली अनेक बीमारियों में भी कमी आ रही है. Also Read - Mumbai में UP के CM योगी से शिवसेना ने बॉलीवुड और Film City के प्‍लान को लेकर किया सवाल

उत्तर प्रदेश के विंध्याचल क्षेत्र के मिजार्पुर और सोनभद्र जिलों में रविवार को साढ़े पांच हजार करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हर घर जल पहुंचाने के अभियान को अब एक साल से भी ज्यादा समय हो गया है. Also Read - Donald Trump की बेटी Ivanka Trump ने PM मोदी के साथ की तस्वीरें शेयर कीं, लिखी ये बात...

योजना पर कुल 5,555.38 करोड़ रुपये की लागत आएगी. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ मुख्‍य कार्यक्रम स्‍थल सोनभद्र जिले के विकास खंड चतरा की ग्राम पंचायत करमांव में शामिल हुए. अपने संबोधन में मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सरकार मिर्जापुर में नौ और सोनभद्र में 14 परियोजना शुरू करने जा रही है जिससे 41 लाख से ज्‍यादा ग्रामीणों को हर घर नल योजना की सौगात मिलेगी.

जल शक्ति मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक अगले दो साल के भीतर योजना को पूरा कर गांवों में पानी की आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आजादी के दशकों बाद तक विंध्याचल क्षेत्र उपेक्षा का शिकार रहा है. ये पूरा क्षेत्र संसाधनों के बाद भी अभाव का क्षेत्र बन गया. इतनी अधिक नदियां होने के बाद भी इस क्षेत्र की पहचान सबसे ज्यादा प्यासे, सूखा प्रभावित क्षेत्र की रही.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जीवन की बड़ी समस्या जब हल होने लगती है तो अलग ही विश्वास झलकने लगता है. ये विश्वास, उत्साह आपमें मैं देख पा रहा था. पानी के प्रति आपमें संवेदनशीलता कितनी है, ये भी दिख रहा है. सरकार आपकी समस्याओं को समझकर उनका समाधान कर रही है.