नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 जवानों के पार्थिव शरीर दिल्ली लाए गए. जवानों के पार्थिव शरीर C-17 विमान से दिल्ली के पालम एयरपोर्ट लाए गए. यहां शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पहुंच शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह व रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी. केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने भी श्रद्धांजलि दी है. सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत सहित तीनों सेना अध्यक्ष यहां मौजूद हैं.

करीब 8 बजकर 40 मिनट पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की. वह कतार में रखे सभी जवानों के पार्थिव शरीरों को चलते हुए हाथ जोड़ नमन किया. वह हाथ जोड़कर जवानों के पार्थिव शरीरों के आगे हाथ जोड़कर चलते रहे. सभी 40 जवानों के पार्थिव शरीरों के सामने से वह गुजरे. उन्होंने शहीदों के रखे पार्थिव शरीरों के सामने हाथ जोड़ कर चलते हुए परिक्रमा की.

गर्भवती हैं पुलवामा में शहीद हुए जवान की पत्नी, कहा- आखिरी बार जी भर बात भी न हो सकी


गौरतलब है कि पुलवामा में बृहस्पतिवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए जबकि कई गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के वंशज की मांग, अजमेर दरगाह आने से रोके जाएं पाकिस्तान के लोग


जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकवादी हमले पर पड़ोसी देश पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि आतंकी संगठन और उनके सरपरस्त बहुत बड़ी गलती कर गए हैं और इसके गुनाहगारों को उनके किये की सजा जरूर मिलेगी और उन्हें भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.