Mann Ki Baat Today: पीएम मोदी आज एक बार फिर से देश को मन की बात के जरिए देश को संबोधित किया . ‘मन की बात’ कार्यक्रम की यह 70वीं कड़ी है. PM मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत देशवासियों को ‘दशहरा पर्व’ की बधाई देते हुए की. इससे पहले प्रधानमंत्री ने पिछले महीने 27 तारीख को मन की बात कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया था. इसे आकाशवाणी और दूरदर्शन के समूचे नेटवर्क पर प्रसारित किया जा रहा है. बता दें कि अपने पिछले संबोधन में पीएम मोदी ने नए कृषि कानून समेत कई मुद्दे पर अपनी बात रखी थी. पीएम ने कहा था कि अपने फल-सब्जियों को, कहीं पर भी, किसी को भी, बेचने की ताकत है, और ये ताकत ही, उनकी, इस प्रगति का आधार है. जानें पीएम मोदी के ‘मन की बात’ की कुछ खास बातें-Also Read - जानिए कैसे काम करता है Teleprompter? जिसे लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कसा तंज

– त्योहारों पर कोरोना के प्रभाव पर दुख जताते हुए पीएम मोदी ने कहा- पहले, दुर्गा पंडाल में, माँ के दर्शनों के लिए इतनी भीड़ जुट जाती थी – एकदम, मेले जैसा माहौल रहता था, लेकिन, इस बार ऐसा नही हो पाया. पहले, दशहरे पर भी बड़े-बड़े मेले लगते थे, लेकिन इस बार उनका स्वरुप भी अलग ही है.” Also Read - Coronavirus in india: पीएम मोदी ने सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों से बात की, जानिए लॉकडाउन पर क्या कहा

– कोरोना के इस संकट काल में, हमें संयम से ही काम लेना है, मर्यादा में ही रहना है. Also Read - Tamil Nadu News Today: आज तमिलनाडु में 11 नए मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी, नया CICT कैंपस भी मिलेगा

– Vocal For Local- ‘त्योहारों की ये उमंग और बाजार की चमक, एक-दूसरे से जुड़ी हुई है,लेकिन इस बार जब आप खरीदारी करने जायें तो ‘Vocal for Local’ का अपना संकल्प अवश्य याद रखें. बाजार से सामान खरीदते समय, हमें स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता देनी है.’

– ‘Lockdown में हमने, समाज के उन साथियों को और करीब से जाना है, जिनके बिना, हमारा जीवन बहुत ही मुश्किल हो जाता – सफाई कर्मचारी, घर में काम करने वाले भाई-बहन, Local सब्जी वाले, दूध वाले, Security Guards.’

– पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देश की सेवा के लिए सीमा में तैनात सुरक्षा कर्मियों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि आज जब पूरा देश त्यौहारों की खुशियां मना रहा है तब हमारे जवान देश की रक्षा के लिए सीमाओं पर तैनात हैं. पीएम मोदी ने कहा साथियो, हमें अपने उन जाबाज़ सैनिकों को भी याद रखना है, जो, इन त्योहारों में भी सीमाओं पर डटे हैं. भारत-माता की सेवा और सुरक्षा कर रहें हैं. हमें उनको याद करके ही अपने त्योहार मनाने हैं.” पीएम ने कहा कि हमें अपने सैनिकों के नाम भी एक दीया जलाना है.

– मन की बात में पीएम ने खादी के बारे में कहा कि लम्बे समय तक खादी, सादगी की पहचान रही है, लेकिन, हमारी खादी आज, Eco- friendly fabric के रूप में जानी जा रही है.” उन्होंने कहा कि शुरू में लोग खादी को लेकर संदेह में थे, परन्तु, आख़िरकार, इसमें लोगों की दिलचस्पी बढ़ी और इसका बाज़ार तैयार हो गया.

– पीएम ने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियो, जब हमें अपनी चीजों पर गर्व होता है, तो दुनिया में भी उनके प्रति जिज्ञासा बढती है. जैसे हमारे आध्यात्म ने, योग ने, आयुर्वेद ने, पूरी दुनिया को आकर्षित किया है. हमारे कई खेल भी दुनिया को आकर्षित कर रहे हैं.”

पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को भी याद किया. उन्होंने कहा कि 31 अक्तूबर को भारत की पूर्व-प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी जी को हमने खो दिया. मैं आदरपूर्वक उनको श्रद्धांजलि देता हूँ .”