नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था पर भी प्रभाव पड़ा है. इस कारण लोगों से यह अपील की जाती है कि वे आवश्यक चीजों की जमाखोरी न करें क्योंकि किसी भी चीज की कमी नहीं होने दी जाएगी. प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम सम्बोधन में कहा, “कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए वित्त मंत्री के नेतृत्व में सरकार ने कोविड-19 टॉस्क फोर्स गठित करने का फैसला किया है. आर्थिक मामलों की हर परिस्थिति का आंकलन करते हुए फैसले लेगी. यह टॉस्क फोर्स यह भी सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक मुश्किलों को कम करने के लिए जितने भी कदम उठाए जाएं उस पर अमल हो.” Also Read - COVID19: निजामुद्दीन के मरकज में आए 700 लोग quarantine centers भेजे गए, 24 पॉजिटिव

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस महामारी ने देश के गरीबों, निम्न मध्यम और मध्यम वर्ग को गहरी क्षति पहुंचाई. मोदी बोले, “व्यापारी वर्ग और उच्च आय वर्ग से आग्रह है कि जिन-जिन लोगों से सेवाएं लेते हों, उनके आर्थिक हितों को ध्यान में रखें. हो सकता है कि आने वाले कुछ दिनों में आपके घर, दफ्तर न आ पाएं, उनका वेतन न काटें. फैसला लें. हमेशा याद रखिएगा कि अपने परिवार को बीमारी से बचाना है.” Also Read - Corona के खिलाफ जंग: PM मोदी को होती है हर केस की जानकारी, वार रूम की तरह काम कर रहा PMO

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि खाने-पीने का सामान और दवाओं का कमी न हो, इसके लिए तमाम कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा, “मेरा सभी से आग्रह कि जरूरी सामान संग्रह करने की होड न करें. क्योंकि ऐसे सामानों की कमी नहीं होने दी जाएगी.” Also Read - मौजूदा खिलाड़ियों में रोहित शर्मा के पास सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटिंग दिमाग : वसीम जाफर