नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश के लोगों से भाईचारा बनाए रखने की अपील की है. पीएम मोदी ने बड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोरोना वायरस (Corona Virus) धर्म, मज़हब, जाति नहीं देखता है. ये वायरस हमला करने से पहले लोगों के रंग, भाषा और वो कहां रहते हैं, ये नहीं देखता है. पीएम ने कहा कि ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम एक दूसरे से जुड़े रहें और भाईचारा बनाए रखें. हमें साथ रहना है. तभी इस मुश्किल चुनौती से निपटा जा सकता है. उन्होंने कहा कि ये चुनौती बहुत से बदलाव लेकर आई है. न सिर्फ भारत के लिए बल्कि ये बदलाव पूरी मानवता के लिए है. Also Read - मास्क पहनने को अनिवार्य बनाने के लिए कानून बनाएगी राजस्थान सरकार, विधानसभा में विधेयक लाया जाएगा

पीएम मोदी ने ये बातें अपने लिंक्डइन प्रोफाइल पर एक पोस्ट में लिखी हैं. इसे उन्होंने ट्विटर पर भी शेयर किया है. पीएम मोदी ने इसमें लिखा है कि “जैसा कि विश्व COVID-19 से लड़ रहा है, भारत का ऊर्जावान और इनोवेटिव यूथ स्वस्थ और समृद्ध भविष्य सुनिश्चित करने का रास्ता दिखा सकता है. @LinkedIn पर कुछ विचार साझा किए हैं, जो युवाओं और पेशेवरों को रुचि देंगे.” COVID-19 महामारी पर विचार साझा करते हुए PM मोदी ने कहा कि यह इस सदी के तीसरे दशक की अस्त-व्यस्त भरी शुरुआत है, जहां इस वायरस के चलते कई व्यवधान उत्पन्न हुए हैं. Also Read - नरेंद्र मोदी से हुई थी गुजरात दंगों को लेकर पूछताछ, नौ घटों तक एक कप चाय भी नहीं ली थी: तत्कालीन SIT प्रमुख का खुलासा

पीएम ने लिखा- “कोरोनावायरस ने पेशेवर जीवन की रूप-रेखा को काफी बदल दिया है. इन दिनों, घर नया ऑफिस है. इंटरनेट नया मीटिंग रूम बन गया है. कुछ समय से सहयोगियों के साथ ऑफिस ब्रेक पुरानी बात हो गई है.” Also Read - Covid 19 Vaccine: खुशखबरी, कोरोना की वैक्सीन हो गई तैयार! ब्रिटेन के अस्पतालों को दिया गया यह निर्देश

पीएम ने लेख में कहा कि “मैं भी इन बदलावों को अपना रहा हूं. अधिकांश मीटिंग्स, चाहे वह मंत्री सहयोगियों, अधिकारियों और विश्व नेताओं के साथ हों, सभी अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होती हैं. विभिन्न हितधारकों से जमीनी स्तर की प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए, समाज के कई वर्गों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग बैठकें हुई हैं. गैर सरकारी संगठनों, नागरिक समाज समूहों और सामुदायिक संगठनों के साथ व्यापक बातचीत हुई. रेडियो जॉकी के साथ भी बातचीत हुई.”