नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लंबा चलने का संकेत देने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्थव्यवस्था के बड़े हिस्से के खुल जाने के कारण देशवासियों से कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए पहले से अधिक सतर्क रहने की रविवार को अपील की. Also Read - Maharashtra News Today 2 July 2020 : मुंबई-ठाणे में एक दिन में कोरोना से 105 लोगों की मौत, थमने का नाम नहीं ले रहा आंकड़ा!

उन्होंने साथ ही कहा कि इस संक्रमण से गरीब और श्रमिक सबसे ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. प्रधानमंत्री ने अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा, ‘‘समाज का कोई भी वर्ग ऐसा नहीं है, जो कोविड-19 संक्रमण से प्रभावित नहीं हुआ है, लेकिन गरीब एवं श्रमिक सबसे ज्यादा बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.’’ Also Read - Coronavirus In India Update: 24 घंटे में 434 लोगों की हुई मौत, संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार

उन्होंने देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा अब खुल गया है, इसलिए अब और अधिक सतर्क रहना महत्वपूर्ण हो गया है.’’ उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई देश के लोगों के नेतृत्व में लड़ी जा रही है और इस लड़ाई में देश की ‘सेवा शक्ति’ नजर आ रही है Also Read - पाकिस्तान के 6 खिलाड़ियों का आया कोरोना टेस्ट रिपोर्ट, इंग्लैंड के लिए कल होंगे रवाना

मोदी ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में हमारे नागरिकों की कुछ नया करने की भावना जोश भर रही है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘आगे की डगर लंबी है, हम ऐसी वैश्विक महामारी से लड़ रहे हैं, जिसके बारे में पहले से बहुत कम जानकारी है.’’

मोदी ने चक्रवात अम्फान के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए ओडिशा एवं पश्चिम बंगाल की मदद के लिए उनके साथ खड़े रहने की बात भी की. उन्होंने साथ ही कहा कि टिड्डियों के दलों से प्रभावित हुए लोगों को मदद मुहैया कराई जाएगी.