नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज ‘मन की बात’ में देश को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत ने कोरोना वायरस जैसी महामारी के दौरान जिस तरह से याद किया, वह मिसाल के तौर पर याद किया जाएगा. पीएम ने कहा कि दुनिया के कई आज भारत और भारत के लोगों को थैंक यू बोल रहे हैं. वहीं उन्होंने ये भी कहा कि लोग रमज़ान में दुआ करें कि इस बीमारी से देश को जल्द से जल्द छुटकारा मिल जाए. पीएम मोदी ने अभी के हालात के बारे में कई और बातें कहीं, पढ़ें. Also Read - लद्दाख गतिरोध: रक्षा मंत्री के बाद पीएम मोदी ने की अजीत डोभाल, CDS जनरल रावत व तीनों सेना प्रमुखों से मुलाकात

1. पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस जैसी मुसीबत ने देश को एकजुट होकर कुछ करने का मौका दिया है. लोग एकजुट होकर इस महामारी से लड़ भी रहे हैं. देश का हर इस जंग में सिपाही है. Also Read - हरभजन-युवराज के बयान पर आफरीदी का पलटवार; कहा- उन्हें पता है कि उनके देश में लोगों पर अत्याचार हो रहा है

2. पीएम मोदी ने अपील की कि आप भी covidwarriors.gov.in से जुड़कर देश की सेवा कर सकते हैं. तकनीक के क्षेत्र में काफी कुछ हो रहा है. इनोवेटर वाकई कुछ नया करने की कोशिश कर रहे हैं. Also Read - पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति और मॉरीशस के प्रधानमंत्री से की बात, बोले, संकट में साथ खड़ा है भारत

3. पीएम मोदी ने कहा कि हमारे साथियों ने देश के भीतर ही 3 लाख किमी से अधिक हवाई उड़ान भरी है और 500 टन से अधिक सामग्री पहुंचाई है. भारतीय रेलवे 60 से अधिक मार्गों पर 100 से अधिक पार्सल ट्रेन चला रही है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों के अकाउंट में सीधे पैसे ट्रांसफर किए जा रहे हैं. इसके लिए बैंकिंग सेक्टर के लोग दिन रात काम कर रहे हैं.

4. राज्य सरकारें, स्थानीय प्रशासन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बहुत बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं.

5. पीएम ने कहा कि अपनी चीजों को बांटकर दूसरे की जरूरत को पूरा करना ही तो संस्कृति है. अपनी इसी संस्कृति के अनुरूप ही भारत सरकार ने कुछ बड़े फैसले लिए. अगर हम दवाई नहीं देते तो दुनिया में कोई भारत को दोष नहीं देता, फिर भी हमने दुनिया के तमाम देशों तक दवाइयों पहुंचाने का बीड़ा उठाया.

6. दुनिया के कई बड़े देश भारत और भारत के लोगों को थैंक यू बोल रहे हैं. हमारी कोशिशों को दुनिया याद करेगी.

7. पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार डॉक्टर्स की सुरक्षा के लिए अध्यादेश लाई है जिसके बाद उन्हें नुकसान पहुंचाने वालों को कठोर दंड दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि यह फैसला बहुत जरूरी है.

8. आज देश में ऐसी तस्वीरें आ रही हैं जहां लोग सफाईकर्मी का भी सम्मान कर रहे हैं. ये पहले बहुत कम या न के बराबर देखने को मिलता था. इस संकट के बाद अब पुलिस के प्रति भी लोगों का नजरिया बदला है. अब लोग भावनात्म रूप से लोग पुलिस से जुड रहे हैं.

9. इस संकट ने कई तरह के बदलावों को भी जन्म दिया है. हमारी कार्यशैली में परिवर्तन आए हैं. अब मास्क हमारे जीवन का एक प्रमुख अंग बन गया है. मास्क लगाने वाला हर व्यक्ति बीमार नहीं होता है.

10. मैं सभी सामुदायिक लीडर्स के प्रति आभार वयक्त करता हूं कि जो लोग लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक कर रहे हैं. इस कोरोना संकट ने त्योहारों को मनाने का तरीका बदल दिया है. हर समुदाय के लोगों ने त्योहारों को अपने ही घर में मनाया.

11. लोग अति आत्मविश्वास से बचें कि हमारे शहर में कोरोना नहीं फैल सकता. या हमें कोरोना नहीं हो सकता है. दुनिया से हमें सबक लेना चाहिए. हमारे यहां तो कहा जाता है कि सावधानी हटी दुर्घटना घटी. इस समय दो गज दूरी बहुत जरूरी है.

12. ऐसे मुश्किल समय में किसान भी कोशिश कर रहे हैं कि कोई भूखा न सोये.

13. कई श्रमिक वर्ग के लोग भी कोशिश में जुटे हैं. कई जगहों पर तो जहां क्वारंटाइन किए गए, वहां रंगाई पुताई कर सब बदल दिया.

14. जगह-जगह पर थूकने की जो आदत थी, वह भी अब बदलने की ओर है.

15. इस रमज़ान में लोग दुआ करें कि कोरोना वायरस जैसी मुश्किल से छुटकारा मिले. मुझे यकीन है कि लोग स्थानीय प्रशासन की बात का भी पालन करेंगे.