Top Recommended Stories

पेट्रोल-डीजल पर पीएम मोदी के तंज का राज्य सरकारों ने दिया जवाब, कहा- PM को शर्म आनी चाहिए

पेट्रोल-डीजल पर वैट कम वसूलने को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए तंज के बाद राज्य सरकारों द्वारा प्रतिक्रिया आने लगी है. बता दें कि अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी ने कई राज्यों के नाम लिए थे. जिसके बाद अब ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे, के. चंद्रशेखर राव ने पीएम मोदी पर कटाक्ष किया है.

Published: April 28, 2022 2:38 PM IST

By Avinash Rai

पेट्रोल-डीजल पर पीएम मोदी के तंज का राज्य सरकारों ने दिया जवाब, कहा- PM को शर्म आनी चाहिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पेट्रोल-डीजल पर VAT नहीं घटाने को लेकर बुधवार को राज्य सरकारों पर तंज कसा गया था. इस मामले पर अब विपक्ष प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रही है. पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मुख्यमंत्रियों की आयोजित बैठक में विपक्ष शासिस कई राज्यों में ईंधन की ऊंची कीमतों का जिक्र करते हुए इसे अन्याय कहा था. उन्होंने राज्य सरकारों से आग्रह किया था कि वे आम आदमी को लाभ देने के उद्देश्य से VAT घटाएं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नवंबर में एक्साइज ड्यूटी हटाए घटाए जाने के बाद कई राज्यों ने VAT घटाने के आग्रह को राज्यों ने नहीं माना. इस बाबत उन्होंने पश्चिम बंगाल, केरल, झारखंड, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र का नाम भी लिया था.

Also Read:

तेलंगाना ने सीएम ने किया पलटवार

तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव ने गुरुवार को कहा है कि राज्यों को टैक्स घटाने के लिए कहने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शर्म आनी चाहिए. उन्होंने कहा कि उनके राज्य में वर्ष 2015 से ईंधन टैक्स में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गई है. केसीआर ने कहा कि केंद्र टैक्स में कटौती क्यों नहीं करता है. केंद्र ने न केवल टैक्स में बढ़ोत्तरी की है, बल्कि सेस भी वसूल रहा है. अगर आपमें हिम्मत है तो बताएं कि टैक्स क्यों बढ़ाया गया.

ममता बनर्जी ने कही ये बात

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले पर कहा कि सरकार ने पिछले तीन साल में पेट्रोल और डीजल पर सब्सिडी देने के लिए 1,500 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने पूरी तरह गुमराह करने वाला एकतरफा भाषण दिया. उनके द्वारा पेश किए गए तथ्य गलत है. पिछले तीन साल से हम प्रत्येक लीट पेट्रोल और डीजल पर 1 रुपये की सब्सिडी देते आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के पास हमारे 97000 करोड़ रुपये बकाया है. जिस दिन हमें उस पैसे का आधा रकम भी मिल जाएगा. हम पेट्रोल और डीजल पर 3000 करोड़ रुपये की सब्सिडी देंगे. मुझे सब्सिडी देने से कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन मैं सरकार कैसे चलाऊंगी.

उद्धव ठाकरे बोले- केंद्र सरकार जिम्मेदार

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के लिए राज्य सरकारों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि आज मुंबई में एक लीटर डीजल की कीमत में 24.38 रुपये केंद्र सरकार ले रही है. वहीं 22.37 रुपये राज्य सरकार. जबकि एक लीटर पेट्रोल पर केंध्र सरकार 31.58 रुपये टैक्स ले रही है और राज्य सरकार 32.55 रुपये टैक्स ले रही है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: April 28, 2022 2:38 PM IST