नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने ‘’देश हित को पार्टी हित से ऊपर’ बताते हुए मंगलवार को कहा कि विकास हमारा मंत्र है और विकास की पहली आवश्यकता एकता एवं सौहार्द है. इसलिये सभी को समाज में शांति, सद्भाव और एकत सुनिश्चित करने का प्रयास करना चाहिए. संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री ने भाजपा संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही. Also Read - ममता का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- हम जान बचाने के लिए काम कर रहे हैं, कुछ लोग हमें हटाने के लिए

प्रह्लाद जोशी के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि अब भी कुछ दलों द्वारा पार्टी हित को राष्ट्रीय हितों से उपर रखा जाता है. वहीं, सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने पार्टी सांसदों को संदेश दिया कि देश हित पार्टी हित से ऊपर है. प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी सांसदों को समाज में शांति, सद्भाव और एकता सुनिश्चित करने के लिए काम करना चाहिए. Also Read - गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्‍तीफा, राज्‍यसभा चुनाव से पहले 8 MLA ने छोड़ा साथ

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दल हित से बड़ा देश है और अगर वह भारत माता की जय बोलते हैं तो सवाल उठाए जाते हैं. उन्होंने कहा कि हमें देश हित की लड़ाई लड़नी है, हमें देशहित को बड़ा रखना है, दल हित को पीछे रखना है. सूत्रों के अनुसार, मोदी ने कहा कि कुछ लोगों को भारत माता की जय बोलने में ‘बू’ आती है जो अत्यंत दुखद है. भारतीय जनता पार्टी संसदीय दल की बैठक मंगलवार को हुयी जिसमें प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह समेत पार्टी सांसद मौजूद थे.