PM Narendra Modi Speech Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिलहाल देश को आज एक बार फिर कोरोना वायरस और लॉकडाउन के मद्देनजर संबोधित किया. इस दौरान पीएम ने कई मु्द्दों पर चर्चा की. इस बीच पीएम ने 10 अहम बातों पर लोगों का ध्यान आकर्षित किया. इस दौरान पीएम ने कहा कि भारत के अनेक परिवारों ने अपने लोगों को खोया है. साथ ही एक वायरस ने पूरी दुनिया को तहस नहस कर दिया है. पीएम ने आगे कई मुद्दों पर लोगों को संबोधित किया. पीएम ने अपने संबोधन में आज भारत में आत्मनिर्भरता अभियान की शुरुआत की. इन 10 प्वाइंट्स में जानें पीएम मोदी के संबोधन की 10 अहम बातें. Also Read - यूपी में कोरोना के 275 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 7,445 हुआ, बढ़ी मृतकों की संख्‍या

1- देश में 17 मई के बाद भी लॉकडाउन जारी रहेगा. राज्यों से मिले सुझाव के आधार पर लॉकडाउन 4.0 से जुड़ी जानकारी 18 मई से पहले दी जाएगी. नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा. Also Read - 1 जून से ट्रेनों में टीटीई ड्रेस में नहीं आएंगे नजर, नई गाइडलाइंस को रेल यात्री भी जरूर जान लें

2- अपने संबोधन #atmanirbharbharat में पीएम ने कहा कि 21वीं सदी भारत का हो यह हमारा सपना ही नहीं हमारी जिम्मेदारी भी है. विश्व की आज की स्थिति सिखाती है कि आगे बढ़ने का मार्ग एक ही है आत्मनिर्भर भारत. Also Read - वीरेंद्र सहवाग ने किया कुछ ऐसा काम, भज्‍जी ने भी कहा- शाबाश लाला

3- भारत में ही हर रोज 2 लाख पीपीई किट व 2 लाख N95 मास्क बनाए जा रहे हैं. ऐसा हम इसलिए कर पाएं क्योंकि भारत ने आपदा को अवसर में बदल दिया है.

4- अपने संबोधन में पीएम ने आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की. पीएम ने कहा कि विशेष आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा. पुराने आर्थिक पैकेज व नए आर्थिक पैकेज को जोड़ दें तो यह 20 लाख करोड़ रुपये का है. यह भारत की जीडीपी का 10 प्रतिशत है.

5- पीएम ने कहा कि 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज 2020 में देश की विकास यात्रा को नई गति देगा. इसमें लैंड, लेबर, लिक्विडिटी. लॉस सभी पर बल दिया गया है. यह पैकेज हमारे कुटीर, गृह उद्दोग व लघु उद्योग के लिए है जो कोरोड़ों लोगों के जीविका का साधन है. ये आर्थिक पैकेज देश के उस श्रमिक के लिए है उस किसान के लिए है जो हर स्थित हर मौसम में देशवासियों के दिन रात परिश्रम कर रहा है. आर्थिक पैकेज में हर तबके लिए महत्वपूर्ण ऐलान किया जाएगा.

6- उन्होंने कहा कि इन सबके जरिए देश के विभिन्न वर्गों को, आर्थिक व्यवस्था की कड़ियों को, 20 लाख करोड़ रुपए का संबल मिलेगा, सपोर्ट मिलेगा. 20 लाख करोड़ रुपए का ये पैकेज, 2020 में देश की विकास यात्रा को, आत्मनिर्भर भारत अभियान को एक नई गति देगा.

7- भारत को आत्म निर्भर बनाने के लिए 5 अहम बातों का ध्यान रखना होगा. इन पांच पिलरों के आधार पर ही भारत आगे तेजी से बढ़ सकता है. ये पांच पिलर हैं- पहला हमें अर्थव्यवस्था को मजबूत करना होगा. दूसरा हमेशा ऐसे इंफ्रास्टक्चर का निर्माण करना है जो आधुनिक भारत की पहचान बनें. तीसरा हमें एक ऐसे सिस्टम को स्थापित करना है जो 21वीं सदी के भारत के सपनों को साकार करने वाली व्यवस्थाओं पर आधारित रहे. चौथा पिलर दुनिया में हमारी डेमोग्राफी दुनिया के लोकतंत्र में हमारी ताकत व उर्जा का स्त्रोत बनें. 5वां पिलर डिमाड का है. हमारी अर्थव्यवस्था में इस चक्र के पूरी तरह इस्तेमाल किए जाने की जरूरत है.

8- मानव जीवन के कल्याण के लिए बहुत कुछ कर सकता है. अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस की पहल मानव जीवन को मुक्ति दिलाने के लिए भारत का उपहार है. दुनिया में भारत की दवाए जीवन और मौत की बीच अहम मानी जाती है.

9- प्रधानमंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भरता हमें सुख और संतोष देने के साथ-साथ सशक्त भी करती है. 21वीं सदी, भारत की सदी बनाने का हमारा दायित्व, आत्मनिर्भर भारत के प्रण से ही पूरा होगा. इस दायित्व को 130 करोड़ देशवासियों की प्राणशक्ति से ही ऊर्जा मिलेगी.

10- प्रधानमंत्री ने कहा कि यह वायरस एक संदेश लेकर आया है कि हम कैसे संकट के समय अपने को निखार सकते हैं. उन्होंने कहा कि आपदा के समय आत्मनिर्भरता बहुत आवश्यक है. पीएम ने अपने संदेश में कहा कि आज आत्मनिर्भरता की परिभाषा बदल गई है.