नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat)  में देशवासियों को नवरात्रि, गरबा, दुर्गापूजा, दशहरा, दीवाली, भैया-दूज, छठ पूजा सहित सभी को आने वाले त्योहारों की शुभकामनाएं दीं. इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश के युवाओं को ई-सिगरेट का इस्तेमाल ना करने की हिदायत देते हुए इससे होने वाले नुकसानों से युवाओं को अवगत भी कराया. कार्यक्रम में पीएम मोदी (Narendra Modi)ने लोगों से अपने समाज, गांव और शहरों में बेटियों के सम्मान के लिये सार्वजनिक कार्यक्रम ‘भारत की लक्ष्मी’ आयोजित करने को कहा. इसके अलावा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आई प्रसिद्ध गायिका लता मंगेसकर ने पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके आने से देश की छवि में बदलाव आया है.

मोदी ने कहा, ‘‘ युवा पीढ़ी देश का भविष्य

युवाओं को ई-सिगरेट (E-Cigarette) के खतरे बताए और कहा कि ई-सिगरेट पर प्रतिबन्ध इसलिए लगाया गया है ताकि नशे का यह नया तरीका हमारे युवा देश को तबाह न कर सके. मोदी ने कहा कि अधिकांश लोगों को ई-सिगरेट के खतरे के बारे में जानकारी नहीं है जबकि यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद खतरनाक है. उन्होंने कहा, ‘‘ई-सिगरेट में कई खतरनाक केमिकल मिलाए जाते हैं. मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि तंबाकू का नशा छोड़ दें और ई-सिगरेट के बारे में कोई भी गलतफहमी नहीं पालें. ’’ मोदी ने कहा, ‘‘ युवा पीढ़ी देश का भविष्य है और ई-सिगरेट पर प्रतिबन्ध लगाया गया है ताकि नशे का यह नया तरीका हमारे युवा देश को तबाह न कर सके. हर परिवार के सपनों को रौंद न डाले. बच्चों की जिंदगी बर्बाद न हो जाए, ये व्यसन, ये आदत समाज में जड़े न जमा सके.’’ उन्होंने कहा कि वह सभी से आग्रह करते हैं कि तंबाकू के व्यसन को छोड़ दें और ई-सिगरेट के संबंध में कोई गलतफहमी न पालें.

पीएम मोदी ने कहा, ई-सिगरेट के बारे में गलत धारणा पैदा की गई है

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ हाल ही में भारत में ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगया गया. ई-सिगरेट के बारे में गलत धारणा पैदा की गई है कि इससे कोई खतरा नहीं है. सामान्य सिगरेट से अलग ई-सिगरेट में निकोटिन युक्त तरल पदार्थ को गर्म करने से एक प्रकार का केमिकल युक्त धुंआ बनता है.’’ उन्होंने कहा कि इसमें भी नुकसानदायक केमिकल होते हैं और लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है. लोगों से तंबाकू का व्यसन छोड़ने की अपील करते हुए मोदी ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि तंबाकू का नशा सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक है और उसकी लत छोड़ना भी मुश्किल होता है. उन्होंने कहा कि तंबाकू का सेवन करने वालों को कैंसर, मधुमेह, ब्लडप्रेशर जैसी बीमारियों का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है. ऐसा हर कोई कहता है कि उसमें मौजूद निकोटिन के कारण होता है. किशोरावस्था में इसके सेवन से दिमाग भी प्रभावित होता है. उन्होंने कहा, ‘‘ आइए, हम सब मिलकर एक स्वस्थ्य भारत का निर्माण करें . ’’

सोमवार को चेन्नई जाएंगे पीएम मोदी, IIT मद्रास के दीक्षांत समारोह में होंगे शामिल

बेटियों के लिए ‘भारत की लक्ष्मी’ कार्यक्रम आयोजित करें : मोदी

इसके साथ ही कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से अपने समाज, गांव और शहरों में बेटियों के सम्मान के लिये सार्वजनिक कार्यक्रम ‘भारत की लक्ष्मी’ आयोजित करने का आह्वान किया है. प्रधानमंत्री ने आकाशवाणी पर प्रसारित ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा, ‘‘ दीपावली में सौभाग्य और समृद्धि के रूप में, लक्ष्मी का घर-घर आगमन होता है. हमारी संस्कृति में बेटियों को लक्ष्मी माना गया है, क्योंकि बेटी सौभाग्य और समृद्धि लाती है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे बीच कई ऐसी बेटियां होंगी जो अपनी मेहनत और लगन से, टैलेंट से परिवार, समाज और देश का नाम रोशन कर रही होंगी.’’ मोदी ने कहा कि इन बेटियों की उपलब्धियों को सोशल मीडिया में अधिक से अधिक शेयर करें . इस बारे में ‘भारत की लक्ष्मी के साथ’ हैशटैग का उपयोग करें .

उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले हम सभी ने मिलकर एक महा अभियान चलाया था, ‘सेल्फी विद डॉटर’ जो दुनिया भर में फैल गया था . उसी तरह इस बर हम अभियान चलायें ‘भारत की लक्ष्मी’. इसके साथ ही मोदी ने कहा कि देश के सारे विद्यार्थी, टीचर और परिजन तनाव मुक्त परीक्षा से जुड़ें पहलुओं को लेकर अपने अनुभव बताएं, सुझाव दे. उन्होंने कहा, ‘‘ उस पर मैं सोचूंगा और उसमें से जो मुझे ठीक लगेगा उसको मैं अपने शब्दों में लिखने का प्रयास करूंगा .’’

लता ने मोदी से कहा, आपके आने से देश की छवि बदली

कार्यक्रम में विशेष अतिथि बनकर आई प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने कहा कि पीएम मोदी के आने के बाद देश की छवि बदली है और इससे मुझे काफी खुशी मिली है.