अहमदाबादः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से तीन दिन की गुजरात यात्रा पर जा रहे हैं. वह वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक सम्मेलन के नौवें संस्करण का उद्घाटन करेंगे. सम्मेलन का आयोजन गांधीनगर में 18 से 20 जनवरी तक किया जा रहा है. सम्मेलन में कई देशों के कारोबारी प्रतिनिधिमंडल भाग ले रहे हैं, लेकिन इसमें पाकिस्तान की भागीदारी नहीं होगी.

राज्य सरकार और पत्र सूचना ब्यूरो (पीआईबी) ने मोदी की यात्रा का जो कार्यक्रम साझा किया है उसके अनुसार प्रधानमंत्री 17 से 19 जनवरी तक अपनी इस यात्रा के दौरान संघ शासित प्रदेश दादर एवं नागर हवेली की राजधानी सिलवासा भी जाएंगे.

गुजरात यात्रा के पहले दिन 17 जनवरी को मोदी वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक व्यापार प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे. बाद में दोपहर में अहमदाबाद में नए अस्पताल का उद्घाटन करेंगे. शाम को साबरमती नदी के तट पर प्रधानमंत्री एक ‘शॉपिंग मेले’ का भी उद्घाटन करेंगे. वह इन स्थानों पर लोगों को भी संबोधित करेंगे.

प्रधानमंत्री 18 जनवरी की सुबह तीन दिन के सम्मेलन का शुभारंभ करेंगे. उसी दिन दोपहर को मोदी विभिन्न देशों के राष्ट्र प्रमुखों के साथ अलग-अलग बैठकें करेंगे. शिखर सम्मेलन में इस बार पांच देशों के प्रमुख, 30,000 से अधिक राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि इसमें भाग ले रहे हैं. इनमें भारत और विदेशों से कई प्रमुख कंपनियों के सीईओ शामिल होंगे.

भारत के प्रमुख उद्योगपतियों में मुकेश अंबानी, उदय कोटक, कुमार मंगलम बिड़ला, गोतम अदाणी, आदि गोदरेज और पंकज पटेल के भाग लेने की उम्मीद है. वैश्विक कंपनियों में से बीएएसएफ, डीपी वर्ल्ड, सुजूकी, वेनगार्ड और कुछ अन्य कंपनियों के शीर्ष अधिकारी इसमें भाग लेंगे.

प्रधानमंत्री 19 जनवरी को हजीरा औद्योगिक क्षेत्र जाएंगे. हजीरा से वह सिलवासा जाएंगे जहां वह कई परियोजनाओं का उद्धाटन और शिलान्यास करेंगे. इस बीच, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया कि इस बार गुजरात वैश्विक सम्मेलन में पाकिस्तान से कोई प्रतिनिधिमंडल भाग नहीं लेगा. गुजरात वाणिज्य एवं उद्योग मंडल ने कहा है कि पाकिस्तान के उद्योग प्रतिनिधियों को न्योता दिया गया लेकिन उन्हें वीजा नहीं मिलने की वजह से वह सम्मेलन में नहीं भाग ले सकेंगे.