नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्‍तर पूर्वी दिल्‍ली में भड़की हिंसा के बाद दिल्‍ली के सभी लोगों से शांति और स्थिति की सामान्‍य बहाली की अपील की है. उन्‍होंने कहा कि मैं दिल्ली के बहनों, भाइयों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करता हूं. पीएम ने ट्वीट किया, ”हमारे संस्कार के मूल में शांति, सौहार्द है, मैं दिल्ली के बहनों, भाइयों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील करता हूं.” Also Read - World Wildlife Day: PM Modi ने पर्यावरण के लिए काम करने वालों की सराहना की, कही ये बात

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट क‍िया, ”दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में व्याप्त स्थिति पर व्यापक समीक्षा की. पुलिस और अन्य एजेंसियां शांति और सामान्य स्थिति सुनिश्चित करने के लिए जमीन पर काम कर रही हैं.” Also Read - PM Narendra Modi Reaction After Vaccination: वैक्सीन लगाने के बाद पीएम ने दिया ये रिएक्शन- लगा भी दिया...

पीएम ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि जल्दी शांति एवं सामान्य स्थिति बहाल हो. पीएम ने ट्वीट में लिखा, दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में वर्तमान स्थिति की गहन समीक्षा की. Also Read - पीएम मोदी ने AIIMS में लिया Bharat Biotech COVAXIN का पहला डोज, लोगों से की ये अपील...देखें VIDEO

बता दें कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून को लेकर भड़की साम्प्रदायिक हिंसा में मरने वाले लोगों की संख्‍या बढ़कर 20 के पार हो गई है. वहीं, हिंसा के खबरों के बीच एक आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा का शव मिला है. वह अपने घर में मृत पाए गए हैं. प्रारंभिक तौर पर कहा गया है कि उनकी पथराव में मौत हुई है.

जीटीबी अस्पताल के अधिकारियों ने जानकारी दी कि मरने वालों की संख्या बढ़कर बुधवार को 20 पर पहुंच गई है. मंगलवार को मरने वाले लोगों की संख्या 13 बताई गई थी. जीटीबी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक सुनील कुमार ने बताया कि मृतकों की संख्या आज बढ़कर 20 हो गई है. इससे पहले एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल से कम से कम चार शवों को गुरु तेग बहादुर अस्पताल लाया गया.

उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया था. उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया.
इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 20 लोगों की जान चली गई और करीब 200 लोग घायल हो गए.