नई दिल्ली. अपने कार्यकाल के शुरुआती 4 वर्षों में हर बार सैनिकों के साथ दिवाली मनाने वाले पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi ) इस साल दिवाली का त्योहार हिमालय में स्थित केदारनाथ (Kedarnath) मंदिर में मनाएंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली पर उत्तराखंड के केदारनाथ मंदिर में भगवान भोलेनाथ का दर्शन करेंगे. सरकारी सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी मंदिर में पूजा करेंगे और मंदिर में पुनर्निर्माण और विकास परियोजनाओं की समीक्षा करेंगे. बता दें कि केदारनाथ में वर्ष 2013 में विनाशकारी बाढ़ आई थी. इसके कारण कई लोगों की मौत हुई थी, जबकि हजारों लोग बेघर हो गए थे.

वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री मोदी ने सियाचिन में जवानों के साथ दिवाली मनाई थी. 2015 में दिवाली के त्योहार के अवसर पर वह पंजाब सीमा पर गए थे. उनकी यह यात्रा संयोगवश वर्ष 1965 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुई जंग के 50 साल पूरा होने के मौके पर हुई थी. इसके अगले साल प्रधानमंत्री हिमाचल प्रदेश गए थे, जहां उन्होंने एक चौकी पर भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के कर्मियों के साथ वक्त बिताया था. पीएम मोदी ने पिछले साल प्रधानमंत्री के तौर पर अपनी चौथी दिवाली जम्मू कश्मीर के गुरेज में सैनिकों के साथ मनाई थी.

पीएम मोदी इससे पहले भी केदारनाथ मंदिर जाकर भगवान शंकर के दर्शन कर चुके हैं. प्रधानमंत्री पिछली बार केदारनाथ अक्टूबर 2017 में गए थे. उनकी यात्रा मंदिर के कपाट सर्दियों के लिए बंद होने से कुछ वक्त पहले हुई थी. पिछले चार बार से लगातार सैनिकों के साथ दिवाली मनाने वाले पीएम मोदी के इस साल केदारनाथ मंदिर जाने को लेकर ‘राजनीतिक मतलब’ निकाले जा रहे हैं. सियासी जानकार पीएम मोदी की इस केदारनाथ यात्रा के पीछे इसी महीने होने वाले 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव का मकसद बता रहे हैं.

(इनपुट – एजेंसी)