नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर रमज़ान की शुभकामनाएं दी हैं. पीएम मोदी ने कहा कि मुस्लिम समाज से अपील की कि वे देश में कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने के लिए रमजान में ज्यादा इबादत करें. और इस बार रमजान संयम, संवेदना और सेवा भाव से मनाएं. “रमजान मनाते समय फिजिकल डिस्टेंसिंग (शारीरिक दूरी) का ध्यान रखें और लॉकडाउन के नियमों का पालन करें.” प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “बाजार में निकलते समय आस-पड़ोस का ध्यान रखें. ईद से पहले देश में करोना खत्म हो जाए इसके लिए रमजान के दौरान और अधिक इबादत करें.” इससे पहले पीएम मोदी ने रमज़ान का चाँद देखे जाने पर रमज़ान की बधाई दी थी. Also Read - Corona Crisis: PM Modi ने कोविड-19 की स्थिति पर महाराष्ट्र और तमिलनाडु के CM से की बात

पीएम मोदी ने अपील कर कहा कि देश और समाज की मदद करें. विश्व के कई देशों को दवाई भेजे जाने की बात पर उन्होंने कहा, “हमने अपने संस्कारों से कुछ फैसले लिए हैं. विश्व के कई देशों को संकट के समय हमने दवाइयां भेजी हैं. आज हमने जो मदद की है, वह अपने संस्कारों के अनुरूप की है. इस समय भारत की प्राथमिकता अपने लोगों को बचाने की जरूर है, लेकिन दूसरे देशों के लोगों का जीवन बचाना भी हमारा कर्तव्य है.” उन्होंने कहा, “अपने देश का ध्यान रखकर हमने जरूरतमंद देशों की मदद की है और इसके बदले कई देशों ने हमें थैंक्स इंडिया कहा है.” Also Read - CoronaVaccine Kerala Model: कोरोना वैक्सीन की एक-एक बूंद का केरल सरकार ने ऐसा क्या किया, पीएम मोदी भी हो गए खुश

मन की बात के दौरान देशभर में रविवार को मनाए जा रहे अक्षय तृतीया पर्व की प्रासंगिकता पर प्रधानमंत्री ने कहा, “भगवान श्रीकृष्ण ने सूर्य देव के माध्यम से पांडवों को अक्षय पात्र दिलवाया, जिसमें अन्न कभी खत्म नहीं होता था. उसी तरह देश के किसानों की वजह से देश का अक्षय पात्र आज भी भरा हुआ है.” प्रधानमंत्री ने कहा, “आज विश्व के इकोसिस्टम के बारे में सोचने का समय है. हम सभी को मिलकर इस धरती को अक्षय रखने का प्रयास करना होगा.” Also Read - Corona Virus In India: PM मोदी ने दिए संकेत, कोरोना की तीसरी लहर से पहले ले सकते हैं कड़े फैसले