बोकारो: चुनावी रैलियों और भाषणों में अक्सर एक पार्टी अपने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए ढेरों आरोप लगाती हुई नजर आती है. झारखंड में चल रहे चुनाव में भी कुछ ऐसा ही दिख रहा है. आने वाले 12 दिसंबर को झारखंड विधानसभा के तीसरे दौर के मतदान के इतर सभी पार्टियों ने राजनीति करनी शुरू कर दी है. बीते सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अपनी एक चुनावी सभा में कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि देश में दशकों तक इस पार्टी ने अस्थिरता और नक्सलवाद को बढ़ावा दिया लेकिन भाजपा ने झारखंड को इन परिस्थितियों से बाहर निकालने का सफल प्रयास किया है.

प्रधानमंत्री ने झारखंड विधानसभा से पूर्व यहां अपनी चुनावी सभा में यह आरोप लगाया और कहा जनता को आगाह किया कि विपक्षी गठबंधन को राज्य में फिर से अस्थिरता लाने का कोई मौका न दें. मोदी ने कहा, ‘‘झारखंड का मुझ पर कर्ज है और मुझे मौका दीजिए यह कर्ज उतारने का. यह तभी होगा जब आप भाजपा को बहुमत से पुनः जीत दिलाएंगे.’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस-जेएमएम के गठबंधन और भाजपा के सेवा भाव में बड़ा अंतर है.

जेपी नड्डा का कांग्रेस पर आरोप, कहा- वोट बैंक के लिए किया तीन तलाक का विरोध

मोदी ने सवाल किया कि स्वतंत्रता के बाद किसने प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से झारखंड में सबसे ज्यादा समय तक शासन किया? उन्होंने आपके बच्चों के हितों की ना कोई चिंता की और ना परवाह. उन्होंने कहा कि भाजपा के आने के बाद सिंचाई परियोजनाओं विद्युतीकरण, सड़कों के निर्माण पर तेजी से काम चल रहा है और हर किसान परिवार के लिए सरकार की ओर से मदद दी जा रही है.

उन्होंने कहा, “ झारखंड कोयला अभ्रक सहित अन्य प्राकृतिक संपदा के लिए मशहूर है यहां की प्राकृतिक संपदा ने देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है. लेकिन कांग्रेस, राजद, झामुमो के शासन में सिर्फ लूट और भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा. जबकि भाजपा ने अपने पांच वर्षों के शासन में भ्रष्टाचार को खत्म करने का काम किया. विकास के कार्य में भी तेजी आई है. अब राज्य को किसी के आगे हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है.”

देवेंद्र फडणवीस ने किया पार्टी का बचाव, कहा- चुनाव प्रत्याशियों पर फैसला संसदीय बोर्ड ने लिया है

प्रधानमंत्री ने दो टूक कहा कि वर्ष 2014 से पहले राज्य में जो अराजकता की स्थिति थी अब वह स्थिति नहीं है. उन्होंने लोगों का आह्वान किया, ‘‘भाजपा को मजबूत बनाएंगे तभी राज्य में निवेश के लिए कारोबार के लिए माहौल बनेगा.’’

उन्होंने कहा कि 2014 से पहले गिने-चुने नक्सली आत्मसमर्पण करते थे अब उनकी संख्या बढ़ गई है. भाजपा सरकार ने पुलिस में बड़ी संख्या में भर्तियां कीं साथ ही सड़क और विकास के अन्य काम के चलते लोगों में भाजपा के प्रति भरोसा बढ़ा है.