PM Security Breach: पीएम नरेंद्र मोदी का रास्ता रोकने वाले संगठन की वकीलों को धमकी- सुप्रीम कोर्ट दूर रहे, 1984 याद है ना?

इस फोन कॉल में वकीलों को कहा जा रहा है कि पीएम की सुरक्षा चूक के जिम्मेदार वे वह हैं. बताया जा रहा है कि फोन करने वाले लोगों का दावा है कि वे सिख फॉर जस्टिस संगठन के लोग हैं और दिलचस्प बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट के सभी AOR (Advocate-on-Record) वकीलों को फोन किया गया है.

Published: January 10, 2022 3:41 PM IST

By Avinash Rai

PM Security Breach: पीएम नरेंद्र मोदी का रास्ता रोकने वाले संगठन की वकीलों को धमकी- सुप्रीम कोर्ट दूर रहे, 1984 याद है ना?

PM Security Breach: पंजाब दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आने के बाद यह मामला अब राजनैतिक गलियारों व सुप्रीम कोर्ट में भी गूंज रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में जांच के लिए एक कमेटी का गठन भी किया है. वहीं इस बीच इस मामले में एक नया मोड़ आया है जहां सुप्रीम कोर्ट के 50 से अधिक वकीलों को अंतरराष्ट्रीय नंबरों से फोन आ रहे हैं. दावा किया गया है कि इस फोन कॉल में वकीलों को कहा जा रहा है कि पीएम की सुरक्षा चूक के जिम्मेदार वे वह हैं. बताया जा रहा है कि फोन करने वाले लोगों का दावा है कि वे सिख फॉर जस्टिस संगठन के लोग हैं और दिलचस्प बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट के सभी AOR (Advocate-on-Record) वकीलों को फोन किया गया है.

Also Read:

सुप्रीम कोर्ट न करे सुनवाई
फोन करने वाले लोगों जिन्होंने खुद को सिख फॉर जस्टिस संगठन का बताया है. उन्होने पीएम के सुरक्षा चूक मामले में सुप्रीम कोर्ट को इस मामले की सुनवाई से दूर रहने को कहा गया है. वहीं कॉल प्राप्त करने वाले सुप्रीम कोर्ट के AOR ने बताया कि हैरानी की बात यह है कि उन्हें एक फोन यूके से आया जिसमें कॉल करने वाले ने खुद को सिख फॉर जस्टिस संगठन का सदस्य होने का दावा किया है. AOR ने बताया कि फोन करने वाले बताया है कि पीएम मोदी के काफिल को ब्लॉक करने की जिम्मेदारी वे लेते हैं.

1984 याद है ना?
AOR ने बताया कि कॉल करने वाले शख्स का कहना है कि 1984 में हुए सिखों की हत्या के मामले में एक भी जिम्मेदार अपराधी नहीं मिला. ऐसे में कोर्ट को इस याचिका पर सुनवाई नहीं करना चाहिए. बता दें कि यूनाईटेड किंगडम के एक नंबर से सुप्रीम कोर्ट के एओआर को फोन किया गया. बता दें कि इससे पहले ऐसे फोन केवल पत्रकारों को आते थे.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 10, 2022 3:41 PM IST