नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने पीएमसी बैंक से नगदी निकालने पर भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लगाई गई रोक हटाने की मांग कर रहे पीएमसी खाताधारकों की याचिका पर सुनवाई करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि हम अनुच्छेद 32 (रिट अधिकार क्षेत्र) के तहत इस याचिका की सुनवाई नहीं करना चाहते. याचिकाकर्ता उचित राहत के लिए संबंधित उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटा सकते हैं.


सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सरकार इस स्थिति की गंभीरता से परिचित है और प्रवर्तन निदेशालय दोषी के खिलाफ उचित कार्रवाई कर रहा है. याचिकाकर्ता बेजोन कुमार मिश्रा की ओर से पेश हुए वकील शशांक सुधी ने कहा कि उन्होंने पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक के 500 खाताधारकों की ओर से याचिका दायर की है जिसमें नकदी निकालने पर आरबीआई की ओर से लगाई रोक को हटाने का अनुरोध किया गया है.

बता दें कि बैंक घोटाले के बाद 24 घंटे के भीतर तीन जमाकर्ताओं ने अपनी जान गंवा दी. पहली मौत सोमवार को जेट एयरवेज के पूर्व कर्मचारी संजय गुलाटी की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी. गुलाटी के निधन के कुछ ही घंटे बाद फट्टोमल पंजाबी (59) मुलुंड की सिंधी कॉलोनी में अपनी इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान पर गिर गए. एक दिन बाद योगिता बिजलानी ने नींद की गोलियों का सेवन करके आत्महत्या कर ली.