तिरूचिरापल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पीएमके के एक पदाधिकारी की फरवरी में तंजावुर जिले में हत्या के सिलसिले में गुरुवार को तमिलनाडु और कराईकल में एक इस्लामी संगठन से जुड़े परिसरों में छापे मारे. पुलिस ने यह जानकारी दी. इलाके में धर्मान्तरण को लेकर कुछ लोगों से सवाल करने पर वी रामलिंगम की हत्या कर दी गई थी.

एनआईए ने गुरुवार को तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली और कुंभकोणम में पट्टाली मक्कल कांची (पीएमके) के पदाधिकारी रामालिंगम की हत्या के सिलसिले में तिरुचिरापल्ली में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और तंजावुर जिले के कुंभकोणम में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया(एसडीपीआई) के कार्यालयों पर छापे मारे.

रामालिंगम ने फरवरी में तंजावुर के थरुबभुवनम इलाके में कुछ मुस्लिमों द्वारा धर्म परिवर्तन की कोशिश करने पर सवाल उठाए थे. बाद में बदमाशों के एक समूह ने उनकी हत्या कर दी थी. एनआईए को 14 मार्च को यह मामला सौंपा गया था. एनआईए के डीएसपी एपी शौकत अली की अगुआई में चार सदस्यीय एक टीम मामले की जांच कर रही है.

राहुल गांधी के वादे को पीएम मोदी ने किया पूरा, जिस महिला की झोपड़ी में खाया था खाना, उसे मिला घर

कुम्बकोनम के नजदीक एक गिरोह द्वारा पीएमके कार्यकर्ता की हत्या के सिलसिले में जांच के तहत एनआईए टीम ने यहां संगठन के कुछ सदस्यों से भी पूछताछ की. उन्होंने बताया कि तिरूचिरापल्ली, कुम्बकोनम और कराईकल में संगठन के कार्यालयों में छापेमारी की गई. राज्य पुलिस ने इस सिलसिले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया है.

PM नरेंद्र मोदी ने साइक्‍लोन फोनी से निपटने की तैयारी की हाईलेवल मी‍ट‍िंग में समीक्षा की