हीरा व्यापारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चोकसी से संबंधित पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में जांच एजेंसियों ने कार्रवाई तेज कर दी है. सीबीआई ने बैंक के चीफ ऑडिटर एमके शर्मा को गिरफ्तार कर लिया है. शर्मा पीएनबी शाखा में ऑडिटिंग के लिए कथित तौर पर जिम्मेदार है. इस मामले में अब तक कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. Also Read - Sushant Death Case: ED दफ्तर पहुंची रिया चक्रवर्ती, अब गहरे राज से उठेंगे पर्दे, पूछताछ न करने की लगाई थी गुहार

Also Read - सुशांत मामले की जांच करने गई पटना पुलिस टीम वापस लौटी, CBI लगाएगी गुनहगारों का पता

CBI के ईमेल पर नीरव का जवाब- विदेश में मेरा बिजनेस, जांच में नहीं हो सकता शामिल

CBI के ईमेल पर नीरव का जवाब- विदेश में मेरा बिजनेस, जांच में नहीं हो सकता शामिल

वहीं, ब्यूरो ऑफ इमीग्रेशन ने हीरा व्यापारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है. इससे पहले विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का पासपोर्ट निलंबित कर दिया है और इनके विदेश के आउटलेट्स पर भी कारोबार न करने का आदेश दिया जा चुका है. सीबीआई लगातार नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर शिकंजा कसती जा रही है. वह लगातार नीरव मोदी की कंपनी के अधिकारियों से पूछताछ कर रही है. Also Read - सुशांत सिंह राजपूत मामले की होगी CBI जांच, बहन ने कहा- ये रक्षाबंधन का तोहफ़ा है

बता दें कि 11 हजार 500 करोड़ के पीएनबी घोटाले में सीबीआई नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी को लेकर जांच कर रही है. सीबीआई के अलावा प्रवर्तन निदेशालय ने भी इस मामले में केस दर्ज किया है. प्रवर्तन निदेशालय अभी तक नीरव मोदी की करोड़ों की संपत्ति जब्त कर चुका है.

इस बीच नीरव मोदी ने सीबीआई जांच में सहयोग से इनकार कर दिया है. सीबीआई ने मोदी को दो अरब डॉलर के कथित घोटाले में उसके समक्ष पेश होने को कहा था. नीरव मोदी ने अपनी कामकाजी व्यस्तता का हवाला देने हुए सीबीआई के समक्ष पेश होने में असमर्थता जताई है. इसके बाद एजेंसी ने मोदी को अधिक कड़ा पत्र जारी कर अगले सप्ताह उसके समक्ष पेश होने को कहा है.