नई दिल्ली. पीएनबी घोटाला मामले में सख्त कदम उठाते हुए सरकार ने गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) को करीब 110 कंपनियों तथा 10 सीमित जवाबदेही भागीदारी कंपनियों की जांच करने के आदेश दिए है. सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि ये कंपनियां और सीमित जवाबदेही भागीदारी कंपनियां हीरा व्यापारी नीरव मोदी और उसके कारोबारी सहयोगी मेहुल चोकसी से संबंधित हैं. 

pnb closed all options to recover dues by going public says nirav modi | नीरव मोदी की सीनाजोरी, PNB ने मामला सार्वजनिक कर बकाया वसूली के रास्ते सीमित किए

pnb closed all options to recover dues by going public says nirav modi | नीरव मोदी की सीनाजोरी, PNB ने मामला सार्वजनिक कर बकाया वसूली के रास्ते सीमित किए

Also Read - Coronavirus Pandemic: उत्‍तराखंड में मंत्रियों-विधायकों की सैलरी में 30% कटौती, निधि में कमी

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ 11,400 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में जांच चल रही है. दोनों ही कारोबारी बैंकिंग उद्योग के सबसे बड़े घोटालों में से एक, इस घोटाले में मुख्य आरोपी हैं और कई जांच एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं. सूत्रों के मुताबिक कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने एसएफआईओ को मोदी व चोकसी से जुड़ी, कुछ सूचिबद्ध कंपनियों सहित करीब 110 कंपनियों और 10 एलएलपी की जांच के आदेश दिए हैं. Also Read - देश में लॉकडाउन का पालन नहीं होने के कारण बढ़ रही मरीजों की संख्या: केंद्र सरकार

एसएफआईओ कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के अधीन आता है. वह मुख्य रूप से सफेदपोश अपराधों की जांच करता है और उसके पास गिरफ्तारी के अधिकार भी हैं. इस बीच अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी व उसके मामा मेहुल चोकसी के खिलाफ कार्रवाई तेज करते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने 22 करोड़ रुपये मूल्य के आभूषण जब्त किए हैं. वहीं, आयकर विभाग ने 7 संपत्तियों को कुर्क किया है तो सीबीआई ने उसकी कंपनी के चार वरिष्ठ अधिकारियों से पूछताछ की. Also Read - COVID-19: कोरोना को लेकर पूर्वांचल में डर, प्रवासी बढ़ा सकते हैं यूपी सरकार की परेशानी

केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के वी चौधरी ने 11,400 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में पीएनबी व वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की. प्रवर्तन निदेशालय के मुखिया कर्नल सिंह भी पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक जांच के सिलसिले में मुंबई गए हैं जो कि इसी एजेंसी की विशेष टीम कर रही है. इस मामले में अब जब्त किए गए रत्न व आभूषणों का कुल मूल्य 5,671 करोड़ रुपये है. मामले की अनेक एजेंसियों द्वारा जांच के बीच आयकर विभाग ने मुंबई में गीतांजलि समूह व इसके प्रवर्तक मेहुल चोकसी की सात संपत्तिया जब्त की.

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) तथा प्रवर्तन निदेशालय ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में करीब 11,400 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी को लेकर अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी और आभूषण कंपनी के खिलाफ शिकायतों के बाद जांच शुरू की है.