नई दिल्ली: इंटरपोल ने 13,500 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाला में भगोड़े डॉयमंड बिजनेसमैन नीरव मोदी की बहन और बेल्जियम की नागरिक पूर्वी दीपक मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. बता दें कि मामले में ईडी और सीबीआई ने संयुक्त जांच के तहत कुछ समय पहले नीरव मोदी के खिलाफ भी इसी तरह का नोटिस जारी किया था.

जानिए कौन है अरबों रुपए के पीएनबी घोटाले का मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी

इंटरपोल ने अरबपति आभूषण कारोबारी नीरव मोदी की बहन और बेल्जियम की नागरिक पूर्वी मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. इसमें कहा गया है कि धनशोधन के आरोपों में पूर्वी दीपक मोदी (44) की तलाश की जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आग्रह पर उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) जारी किया गया है.

पीएनबी घोटाला नीरव मोदी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया

अधिकारियों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय मामले में अपनी छानबीन को आगे बढ़ाने के लिए उसको पूछताछ में शामिल करना चाहता है. सबसे पहले इसने मार्च में मामले में अपने पहले आरोपपत्र में उनका नाम लिया था और उस पर मुंबई में पंजाब नेशनल बैंक की ब्रेडी हाउस शाखा में धनशोधन का आरोप है. इंटरपोल के नोटिस के मुताबिक पूर्वी अंग्रेजी, गुजराती और हिंदी बोलती है और बेल्जियम की नागरिक है.

PNB घोटाला: सीबीआई ने कहा, नीरव मोदी के ‘कारनामे’ की बैंक की पूर्व एमडी को थी जानकारी

यह नोटिस अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गिरफ्तारी वारंट की तरह काम करता है. वांछित के खिलाफ एक बार आरसीएन जारी होने के बाद इंटरपोल अपने 192 सदस्य देशों को उनके देश में वांछित व्यक्ति के नजर आने पर गिरफ्तार करने या हिरासत में लेने को कहता है ताकि प्रत्यर्पण या वापस भेजे जाने की प्रक्रिया शुरू की जा सके. धनशोधन के आरोपों पर नीरव मोदी के अमेरिकी कारोबार को देखने वाले एक शीर्ष कार्यकारी अधिकारी मिहिर आर भंसाली के खिलाफ इंटरपोल का इसी तरह का नोटिस जारी किया गया था.

बैंक फ्रॉड के आरोपी नीरव मोदी के पास हैं 6 पासपोर्ट, दर्ज हो सकता है एक और केस