नई दिल्ली. सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक में 11 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के कथित घोटाले में गीतांजलि समूह के मालिक मेहुल चोकसी के खिलाफ नई एफआईआर दर्ज की है. आरोप है कि पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई शाखा से हेराफेरी करके 4,886 करोड़ रुपये जारी किए गए. यह राशि तीन कंपनियों गीतांजलि जेम्स, नक्षत्र और गिली को 2017-18 में जारी की गई. Also Read - लंदन की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका लगातार सातवीं बार खारिज : सीबीआई

Also Read - नीरव मोदी मामला: PNB को वसूली की पहली किश्त के रूप में अमेरिका से मिले 24.33 करोड़ रुपये

ये भी पढ़ें – नोटबंदी के समय ही भाग गया होता नीरव मोदी, जानिए उसकी सेफ एग्जिट का पूरा प्लान Also Read - कांग्रेस एक रिटायर्ड के जज के जरिए भगोड़े नीरव मोदी को बचाने की कोशिश कर रही है: केंद्रीय मंत्री प्रसाद

इससे पहले एजेंसी ने 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी से संबंधित मामला दर्ज किया था. अब यह मामला नीरव मोदी और चोकसी की कंपनियों को जारी 6,498 करोड़ रुपए के एलओयू तक पहुंच चुका है। एफआईआर दर्ज करने के बाद सीबीआई ने छह शहरों में 26 जगहों पर गीतांजलि समूह के ठिकानों पर छापेमारी की.

ये भी पढ़ें – PNB घोटाला: मामा मेहुल चोकसी के साथ मिलकर नीरव मोदी ने पूरे सिस्टम को बनाया ‘मामू’

सीबीआई के मुताबिक, ‘मेहुल चोकसी से जुड़े गीतांजली समूह, आरोपी कंपनियों के अन्य निदेशकों और समूह की अन्य कार्यालयों, फैक्टरियों, और आवासों तथा प्लांट पर छापेमारी की गई है’. इसके अलावा जांच एजेंसी ने पीएनबी के चार अधिकारियों बेचू तिवारी, संजय कुमार प्रसाद, मोहिंदर कुमार शर्मा और मनोज खराट से भी पूछताछ की. उप महानिरीक्षक के तहत एक विशेष टीम का गठन किया गया है जो इस मामले की जांच करेगी.

ये भी पढ़ें – जानिए कौन है अरबों रुपए के पीएनबी घोटाले का मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी

नई एफआईआर में चोकसी के अलावा गोकुल नाथ शेट्टी, मनोज खराट और गीतांजलि जेम्स लिमिटेड, गिली इंडिया, नक्षत्र ब्रांड लिमिटेड कंपनियों के निदेशक कृष्ण संगमेश्वरन, नाजुरा यश आंजनेय, दिनेश गोपालदास भाटिया, ए शिवरमन नायर और दिनेश व्रजलाल सेठ शामिल हैं. इसके अलावा एफआईआर में ज्योति भरत वोरा, अनिल उमेश हल्दीपुर, चंद्रकान्त कनू करकरे, पंखुड़ी अभिजीत वरांगे, मिहिल भास्कर जोशी और अज्ञात बैंक अधिकारियों का भी नाम है.

ये भी पढ़ें – नीरव मोदी से पहले इन शातिर कारोबारियों ने देश के वित्तीय तंत्र को लगाया था चूना

इससे पहले सीबीआई ने नीरव मोदी परिवार और उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी के खिलाफ छापेमारी के दौरान 549 करोड़ रुपये के आभूषण जब्त करने का दावा किया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नीरव मोदी के न्यूयार्क, लंदन, बीजिंग और मकाऊ स्थित आउटलेट्स को जांच जारी रहने तक कोई कारोबार नहीं करने का निर्देश दिया है. ईडी ने अपनी मनी लांड्रिंग जांच के सिलसिले में नीरव मोदी औरा चोकसी को समन भी किया है.