नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में सियासत का खेल चरम पर पहुंच गया है. दोनों पार्टियों एक दूसरे पर आरोप मढ़ने में व्यस्त है. कांग्रेस ने जहां इसे लेकर सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है, वहीं बीजेपी ने राहुल गांधी को निशाने पर लिया. बीजेपी का कहना है कि इस घोटाले की शुरुआत यूपीए सरकार के दौरान 2011 में हुई. Also Read - राहुल गांधी का PM मोदी पर हमला- पहली बार दशहरा में 'रावण' नहीं, प्रधानमंत्री का पुतला जलाया गया

Also Read - दिवाली से पहले केंद्र सरकार करेगी तीसरे राहत पैकेज का ऐलान! नौकरियों की आएगी बहार

सिब्बल ने संभाला मोर्चा Also Read - लंदन की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका लगातार सातवीं बार खारिज : सीबीआई

आज दोनों पार्टियों की तरफ से इसे लेकर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर चला. कांग्रेस की तरफ से कपिल सिब्बल ने प्रेस कांफ्रेंस कर मोर्चा संभाला. सिब्बल ने कहा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री की जानकारी के बिना इतना बड़ा घोटाला हो ही नहीं सकता. सिब्बल ने कहा कि हमारे चौकीदार लोगों को पकौड़े बनाने की सलाह दे रहे हैं और चोर देश छोड़कर भाग गया. पीएम अपने साथ बाहर जाने वालों के नाम का खुलासा क्यों नहीं करते? क्या वह इसी ईज ऑफ डुइंग बिजनेस कहते हैं?

PNB घोटालाः सीवीसी ने बैंक और वित्त मंत्रालय के अधिकारियों को तलब किया

सिब्बल ने सवाल उठाया कि बैंकों ने नियमों के विपरीत जाकर ऐसे बड़े लोन कैसे बांट दिए? डिफॉल्टर्स के खिलाफ सरकार ने आखिर कार्रवाई क्यों नहीं की? उन्होंने कहा कि अगर भारत की अर्थव्यवस्था पर इस घोटाले का बुरा असर पड़ता है तो निवेशकों का भरोसा टूटेगा. सिब्बल ने मोदी सरकार पर अर्थव्यवस्था की हालत खराब करने का आरोप लगाया. उन्होंने बीजेपी से एनडीए और यूपीए के शासन पर बहस करने का भी चैलेंज दिया.

सीतारमण का पलटवार

वहीं, सिब्बल की प्रेस कांफ्रेंस के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कांग्रेस के बड़े नेताओं पर इस घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया. सीतारमण ने कहा कि घोटाला यूपीए सरकार के दौरान हुआ और उसने इसे दबाने की कोशिश की. 2013 में इस घोटाले के खिलाफ आवाज उठी लेकिन वित्त मंत्रालय की ओर से इसे दबा दिया गया.

ये भी पढ़ें- सरकार के हरकत में आने से पहले ही फरार हो गया नीरव मोदी और उसका परिवार

सीतारमण ने राहुल गांधी और कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी को निशाने पर लेते हुए कहा कि दोनों नेता इस जूलरी ग्रुप के प्रमोशन इवेंट में शामिल हुए थे. नीरव मोदी ने सिंघवी को फायदा पहुंचाया. उन्होंने कहा कि फायर स्टार डायमंड इंटरनेशनल प्रा. लिमिटेड नीरव मोदी की कंपनी है जिसे उन्होंने अद्वैत होल्डिंग से खरीदा था. 2002 से अद्वैत होल्डिंग में अभिषेक मनु सिंघवी की पत्नी अनिता सिंघवी शेयरहोल्डर थीं.

सीतारमण ने कहा कि नीरव मोदी भले ही देश छोड़कर भाग गया हो लेकिन सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई कर रही है. पीएनबी घोटाला यूपीए सरकार के दौरान हुआ. हम घोटालेबाजों के साथ मिलकर उनकी देश से भाग निकलने में मदद नहीं कर रहे हैं , इसके बजाय भाजपा सरकार उन्हें पकड़ रही है.