नई दिल्ली. लंदन की एक अदालत ने पंजाब नेशनल बैंक के 13 हजार करोड़ रुपए से अधिक के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी को एक बार फिर जमानत देने से इनकार कर दिया है. अदालत ने नीरव मोदी की जमानत याचिका चौथी बार खारिज की है. हीरा कारोबारी नीरव मोदी को इसी साल 19 मार्च को लंदन में गिरफ्तार किया गया था. फिलहाल उसे भारत भेजे जाने को लेकर कोर्ट में मुकदमा चल रहा है. बुधवार को लंदन की अदालत की जज ने कहा कि यह मानने का ठोस आधार है कि नीरव मोदी जमानत पर छूटने के बाद फिर से कानून के आगे समर्पण नहीं करेगा. इस आधार पर ही भगोड़े हीरा कारोबारी की जमानत याचिका खारिज की गई है. आपको बता दें कि भारत सरकार ने ब्रिटेन से दो अरब डॉलर से ज्यादा राशि की धोखाधड़ी के आरोपी इस हीरा कारोबारी को प्रत्यर्पित करने की मांग की थी.

‘बैरक संख्या-12’ में रखा जाएगा भगौड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी, तैयार की गई मुंबई की ऑर्थर रोड जेल

लंदन में स्कॉटलैंड यार्ड के अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद नीरव मोदी ने अदालत से जमानत पर रिहा करने की कई बार अपील की है. लेकिन ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत ने पिछले महीने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी. नीरव मोदी अभी इंग्लैंड की एक जेल में बंद है. भारत से फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर भी ब्रिटेन की अदालत में मामला चल रहा है. माल्या के खिलाफ सुनवाई में भी भारतीय पक्ष को सकारात्मक संकेत मिले थे. इसके बाद फरार हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की संभावना बढ़ गई थी. इसे देखते हुए पीएनबी घोटाले का यह मास्टरमाइंड लंदन की अदालत में लगातार जमानत याचिकाएं दाखिल कर रहा है. लेकिन वेस्टमिंस्टर अदालत ने बुधवार को भी उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी.

इधर, नीरव मोदी के भारत आने के बाद उसे मुंबई के आर्थर रोड जेल में रखे जाने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. लंदन की अदालत ने भगोड़े कारोबारी को भारत प्रत्यर्पित किए जाने के बाद उसे जेल में दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में विस्तृत जानकारी भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से मांगी थी. भारतीय अधिकारियों ने इस बाबत लंदन की अदालत को अपडेट कर दिया है. इससे पहले विजय माल्या को भी प्रत्यर्पण के बाद जेल में रखे जाने की बाबत चर्चा हुई थी. इस पर अधिकारियों ने बताया कि नीरव मोदी को आर्थर रोड जेल की बैरक संख्या 12 के दो में से एक कमरे रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि फिलहाल एक कमरे में तीन कैदियों को रखा गया है और एक कमरा खाली है. उन्होंने बताया कि अगर मोदी और माल्या को प्रत्यर्पित किया गया तो उन्हें इसी कमरे में रखा जाएगा, जिसमें तीन पंखे, छह ट्यूब लाइट और दो खिड़कियां हैं.