मुंबई: यहां की एक विशेष अदालत ने पंजाब नेशनल बैंक में 11,400 करोड़ रुपये के कथित फर्जीवाड़े के सिलसिले में नीरव मोदी की फायर स्टार डायमंड कंपनी के अध्यक्ष (वित्त) विपुल अंबानी और पांच अन्य को 5 मार्च तक सीबीआई हिरासत में भेज दिया. Also Read - PNB Scam: ब्रिटेन की अदालत ने Nirav Modi के भारत प्रत्यर्पण की दी इजाजत, कहा- दोषी साबित होने लायक हैं सबूत

Also Read - नहीं किया था दुष्कर्म, फिर भी 20 साल बिताए जेल में, इस शख्स की कहानी रौंगटे खड़े कर देगी...

नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार एंव गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चोकसी की संलिप्तता वाले मामले में सीबीआई द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकियों के आधार पर इन सभी 6 लोगों को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया था. Also Read - Toolkit Case: अदालत ने जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

मुंबई की विशेष अदालत ने न्यायाधीश एसआर तंबोली ने विपुल अंबानी सहित 6 लोगों को 5 मार्च तक के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया.

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले को लेकर सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की. सीबीआई ने जनरल मैनेजर स्तर के अधिकारी राजेश जिंदल को गिरफ्तार किया है. जिंदल 2009 से 2011 तक मुंबई में कार्यरत थे. सीबीआई उनसे इस घोटाले को लेकर पूछताछ कर रही है. ख़बरों के अनुसार वे पीएनबी की ब्रैडी हाउस शाखा में ब्रांच हेड थे. सीबीआई लगातार घोटाले के आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. साथ ही कंपनी से जुड़े हर आदमी से पूछताछ की जा रही है.

पीएनबी घोटाले पर कांग्रेस ने जेटली से की इस्तीफे की मांग

पीएनबी घोटाले पर कांग्रेस ने जेटली से की इस्तीफे की मांग

नीरव मोदी ने अपने अधिकारियों को किया ई-मेल

बता दें कि घोटाला करने वाले नीरव मोदी की भारत की तमाम जांच एजेंसियों को तलाश है. सीबीआई, ईडी और आयकर विभाग नीरव मोदी के ठिकानों पर लगातार छापे मार रहे हैं. हालांकि, सीबीआई अब तक नीरव मोदी का सुराग नहीं लगा पाई है. इस बीच नीरव मोदी ने पीएनबी को एक पत्र लिखकर ये जरूर बताया है कि उसके मामले को सार्वजनिक कर बैंक ने कर्ज वापसी के रास्ते बंद कर दिए हैं. एक तरह से नीरव मोदी ने सीनाजोरी करते हुए कहा कि अब उससे पैसे निकलवा पाना बैंक के लिए संभव नहीं होगा.

वहीं, नीरव मोदी ने अपने फर्म से जुड़े कर्मचारियों को एक ई-मेल किया. इस ई-मेल में उसने कर्मचारियों से दफ्तर न आने को कहा और साथ ही ये सलाह भी दी की वह किसी से बात ना करें.