नई दिल्लीः सरकारी पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11300 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी न्यूयॉर्क के एक आलिशान होटल में रह रहा है. मामले का खुलासा होने से पहले ही एक जनवरी को वह देश छोड़कर भाग गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक न्यूयॉर्क की Essex House होटल की 36वीं मंजिल पर एक सुइट को उसने बुक करवाया है. उसका हर रोज का किराया करीब 75 हजार रुपये है. नीरव ने इस सुइट को 90 दिनों के लिए बुक करवाया है. इस तरह इन तीन महीनों में उसका केवल होटल बिल 67.5 लाख रुपये आने की संभावना है. Also Read - नीरव मोदी मामला: PNB को वसूली की पहली किश्त के रूप में अमेरिका से मिले 24.33 करोड़ रुपये

Also Read - कांग्रेस एक रिटायर्ड के जज के जरिए भगोड़े नीरव मोदी को बचाने की कोशिश कर रही है: केंद्रीय मंत्री प्रसाद

गौरतलब है कि विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को नीरव और मामले के दूसरे आरोपी मेहुल चोकसी का पासपोर्ट निलंबित कर दिया था. मेहुल रिश्ते में नीरव का सगा मामा है. पासपोर्ट निलंबित होने की वजह से नीरव अमेरिका छोड़कर किसी अन्य देश में नहीं जा सकता है. ऐसे में इस बात की पूरी संभावना है कि नीरव को संभावित कार्रवाई के बारे में आभास हो गया था और इसी कारण उसने 90 दिनों के लिए होटल में सुइट बुक करवाई है. Also Read - PNB घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ ब्रिटेन में कॉन्फ्रेंस के जरिए शुरू होगी प्रत्यर्पण की सुनवाई

देश भर में छापेमारी

इस बीच देश भर में सरकारी एजेंसियां नीरव और अन्य आरोपियों पर नकेल कसने में जुटी हुई है. शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय ने मुंबई, पुणे, सूरत, जयपुर, हैदराबाद, पटना और कोयंबटूर में कई जगहों पर छापेमारी की. अब तक की रिपोर्ट के मुताबिक ईडी नीरव और मेहुल की 5600 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त कर चुकी है.आयकर विभाग ने अस्थायी रूप से नीरव की 29 संपत्तियों को जब्त किया है, जिसमें मुंबई के वार्ली में स्थित समुंद्रम महल के छह फ्लैट शामिल हैं. इन फ्लैटों से दृश्य बेहद खूबसूरत है. यहां सीधे समुद्र दिखता है.

नई एफआईआर दर्ज

सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक में 11 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के कथित घोटाले में गीतांजलि समूह के मालिक मेहुल चोकसी के खिलाफ नई एफआईआर दर्ज की है. आरोप है कि पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई शाखा से हेराफेरी करके 4,886 करोड़ रुपये जारी किए गए. यह राशि तीन कंपनियों गीतांजलि जेम्स, नक्षत्र और गिली को 2017-18 में जारी की गई. इससे पहले एजेंसी ने 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी से संबंधित मामला दर्ज किया था. अब यह मामला नीरव मोदी और चोकसी की कंपनियों को जारी 6,498 करोड़ रुपए के एलओयू तक पहुंच चुका है.

एफआईआर दर्ज करने के बाद सीबीआई ने छह शहरों में 26 जगहों पर गीतांजलि समूह के ठिकानों पर छापेमारी की. सीबीआई के मुताबिक, ‘मेहुल चोकसी से जुड़े गीतांजली समूह, आरोपी कंपनियों के अन्य निदेशकों और समूह की अन्य कार्यालयों, फैक्टरियों, और आवासों तथा प्लांट पर छापेमारी की गई है’. इसके अलावा जांच एजेंसी ने पीएनबी के चार अधिकारियों बेचू तिवारी, संजय कुमार प्रसाद, मोहिंदर कुमार शर्मा और मनोज खराट से भी पूछताछ की. उप महानिरीक्षक के तहत एक विशेष टीम का गठन किया गया है जो इस मामले की जांच करेगी.