मुंबई: मुंबई स्थित विशेष पीएमएलए (धन शोधन निवारण अधिनियम) अदालत ने गुरुवार को अरबपति आभूषण व्यापारी नीरव मोदी (Nirav Modi) को भगोड़ा आर्थिक अपराधी (fugitive economic criminal) घोषित कर दिया. प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) की याचिका पर विशेष अदालत ने यह फैसला सुनाया है. गौरतलब है कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से दो अरब अमेरिकी डॉलर की धोखाधड़ी का मामला जुड़ा हुआ है. इसी मामले की सुनवाई के दौरान विशेष अदालत ने नीरव मोदी को आर्थिक अपराधी अधिनयम के तहत भगोड़ा आर्थिक अपराधी करारा दिया है. बता दें कि यह अधिनियम पिछले साल अगस्त में लागू किया गया था.

IIT-JEE: आईआईटी रुड़की में खाली रह गईं 18 सीटें, HRD सचिव ने ट्वीट कर कहा सभी सीटें फुल

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) पर पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) धोखाधड़ी मामले के मुख्य आरोपी है. इन दोनों ने मिलकर पीएनबी को दो अरब अमेरिकी डॉलर का चूना लगाया. बता दें कि कुछ वक्त पहले नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था. हालांकि अभी नीरव मोदी को भारत लाने (प्रत्यर्पण) की प्रक्रिया चल रही है.ट

अब उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश, लखनऊ ट्रामा सेंटर किया गया रेफर, सभी आरोपी गिरफ्तार

बीते दिनों यूके की कोर्ट में पेशी के दौरान नीरव मोदी ने आत्महत्या की बात भी कही थी. नीरव ने कहा कि अगर उसे भारत के हवाले किया गया तो वह आत्महत्या कर लेगा. यूके कोर्ट ने बीते दिनों नीरव मोदी की जमानत याचिका को खारिज भी कर दिया था. यूके कोर्ट के फैसले के अनुसार नीरव मोदी को कड़ी निगरानी के हीच रखा गया है. अब देखना ये है कि क्या ब्रिटेन नीरव मोदी को भारत को सौंपेगा. हालांकि भारत सरकार का कहना है कि प्रत्यर्पण की प्रक्रिया जारी है.

(इनपुट-आईएएनएस)