अमरावतीः आंध्र प्रदेश में एक पुलिस निरीक्षक ने सत्तारूढ़ टीडीपी के एक सांसद पर निशाना साधते हुए धमकी दी कि अगर निर्वाचित प्रतिनिधि पुलिस बल का मनोबल गिराने की बात करेंगे तो उनकी जुबान काट दी जाएगी. सांसद ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पुलिसकर्मी को ललकारा और उसके खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई है. अनंतपुरम जिले में कादिरी के निरीक्षक माधव ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में चेतावनी देते हुए कहा, ‘‘हमने अभी तक संयम बरता है. भविष्य में अगर कोई हद से बाहर जाकर पुलिस के खिलाफ बात करता है तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम उनकी जुबान काट लेंगे. सावधान रहो.’’ इस बारे में ताडिपत्री के SDPO ने कहा कि आईपीसी की धारा 506 के तहत यह एक गैर संगीन अपराध है. हमने इस बारे में शिकायत को जिले के पुलिस अधीक्षक के पास भेज दिया. कानूनी राय भी ली जा रही है. अभी तक इस बारे में एफआईआर दर्ज नहीं किया गया है. Also Read - Lockdown: ड्यूटी पर पहुंचने को 450 KM पैदल चला पुलिस जवान, SP ने कहा- 'तुम आदर्श हो'

इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए सांसद जे सी दिवाकर रेड्डी ने निरीक्षक को चुनौती देते हुए कहा कि वह अपनी जुबान कटवाने के लिए कहां आएं. ताडिपत्री उपमंडल पुलिस अधिकारी विजय कुमार के अनुसार, बाद में सांसद ने निरीक्षक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई लेकिन अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है. इस सप्ताह ताडिपत्री के पास एक गांव में एक झड़प की पृष्ठभूमि में ये बयान सामने आए हैं. रेड्डी ने पुलिस पर घटनास्थल से ‘नपुंसकों’ की तरह भाग जाने तथा स्थिति को नियंत्रण में न ला पाने का आरोप लगाया था. Also Read - VIDEO: Lockdown के दौरान मस्जिद में नमाज अदा की, बाहर निकलते ही पड़े पुलिस के डंडे

गुरुग्राम: पार्टी कर रहे 7 युवकों ने आईटी इंडस्ट्री में काम करने वाली युवती से किया रेप का प्रयास Also Read - COVID-19: लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने बनाया मुर्गा, सामान सहित रेंगने की मिली सजा

अधिकारियों ने साधी चुप्पी
हालांकि इस मामले में अभी प्रदेश पुलिस के अधिकारियों ने कुछ नहीं बोला है. दूसरी तरफ टीडीपी सांसद ने कहा कि वह इस मामले को सरकार के संज्ञान में लाएंगे. ताडिपत्री के पास झड़प की घटना का जिक्र करते हुए पुलिस के मौके से भागने के कारण उन्हें भी वहां भागना पड़ा. इस तरह कहा जाए तो मैंने भी नपुंसक जैसी हरकत की. वैसे सांसद दिवाकर रेड्डी को उनके विवादास्पद बयान के लिए जाना जाता है. घटना के बाद दिवाकर रेड्डी ने अपने गृह नगर ताडिपत्री पुलिस स्टेशन पहुंचे और इस बारे में एक शिकायत दी.

अपनी मूछ ऐंठते हुए कादिरी के पुलिस इंस्पेक्टर ने शुक्रवार को कहा था कि एमपी, एमएलए, पूर्व एमपी या पूर्व एमएलए जो भी हो अगर पुलिस की भावना का आहत करने वाली बात करेगा तो उसकी जुबान काट ली जाएगी. अभी तक हमने उन्हें बर्दास्त किया, लेकिन अब अगर वे लिमिट से आगे बढ़ेंगे तो उन्हें नहीं छोड़ा जाएगा.