नई दिल्ली: देश के दो सबसे बड़े राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे में बढ़ोतरी हुई है. बीजेपी की आमदनी में भी बढ़ोतरी हुई है, लेकिन इस बार कांग्रेस की आमदमी में ज़बर्दस्त इजाफ़ा हुआ है. भाजपा को 2018-19 में 742 करोड़ रुपए चंदे में मिले जबकि कांग्रेस को 148 करोड़ रुपए चंदा मिला. इन दलों ने चुनाव आयोग को दिए हलफनामों में यह जानकारी दी है. Also Read - Covid-19 पर सियासी जंग: केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने पूर्व पीएम मनमोहन पर किया पलटवार, पत्र ट्वीट कर कसा ये तंज

एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के अनुसार भाजपा का चंदा 2017-18 के 437.04 करोड़ रुपए से बढ़कर 2018-19 में 742.15 करोड़ हो गया यानी उसके चंदे में 70 फीसद का इजाफा हुआ.” Also Read - जब ऑक्सीजन टैंकर की पूजा करने में लग गए बीजेपी नेता और मंत्री, कांग्रेस ने बोला हमला

एडीआर के अनुसार कांग्रेस का चंदा 2017-18 के 26 करोड़ रुपए से बढ़कर 2018-19 में 148.58 करोड़ रुपए हो गया. यानी उसका चंदा 457 फीसद बढ़ा. हालांकि पार्टी के चंदे में 2016-17 से 2017-18 के दौरान 36 फीसद की कमी आ गयी थी. Also Read - बीजेपी चलाएगी 'अपना बूथ, कोरोना मुक्त' अभियान, JP Nadda ने दिए निर्देश

एडीआर ने एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा ने 4483 चंदों से 742.15 करोड़ रुपए मिलने की घोषणा की जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने 605 चंदों से 148.58 करोड़ रुपए मिलने की घोषणा की.’’ एडीआर के अनुसार भाजपा को मिला कुल चंदा कांग्रेस, राकांपा, भाकपा, माकपा, और तृणमूल कांग्रेस को मिले कुल चंदे के तीन गुणा से भी अधिक है.