नई दिल्लीः महाराष्‍ट्र के नांदेड़ में फंसे सिख श्रद्धालु अब पंजाब सरकार के लिए बड़ी मुसीबत बन गए हैं. नांदेड़ स्थित श्री हजूर साहिब से लौटे सिख श्रद्धालुओं में से करीब 795 श्रद्धालु कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. जिसके बाद से ही पंजाब की सियासत में घमासान मचा हुआ है. एक तरफ जहां पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि, इस मामले में उनसे झूठ बोला गया है, वहीं इस बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के ट्वीट से मामले ने और तूल पकड़ लिया है. दिग्विजय सिंह के ट्वीट के बाद कांग्रेस पर चौतरफा आलोचना शुरू हो गई है. Also Read - विदेश से आने वाले भारतीयों को अब 7 दिन रहना होगा क्वारंटाइन, वापस किए जाएंगे बचे हुए पैसे

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर अकाली दल व एसजीपीसी ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए दिग्विजय सिंह को कठघरे में खड़ा कर दिया है. दरअसल, नांदेड़ स्थित श्री हजूर साहिब से लौटे सिख श्रद्धालुओं के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है, ‘क्या सिख श्रद्धालुओं के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद तबलीगी जमात से इनकी कोई तुलना की जाएगी.’ Also Read - छत्तीसगढ़ में Coronavirus के 15 नए केस, कुल आंकड़ा, 307 लेकिन कोई भी मौत नहीं

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए सुखबीर सिंह बादल ने लिखा है, ‘मैं श्री हज़ूरसाहिब, नांदेड़ से लौटने वाले सिख तीर्थयात्रियों के साथ एकजुटता से खड़ा हूं. वह हमारे भाई और बहन हैं. कांग्रेस उन्हें कोरोनोवायरस फैलाने के लिए दोषी ठहरा रही है. यह कांग्रेस का पुराना माइंडसेट है. जो हर समस्या के लिए सिखों को ही दोषी ठहराने का प्रयास करती है. जब दुनिया सिखों के निस्वार्थ सेवा भाव के लिए उनकी तारीफ कर रही है तो कांग्रेस इस तरह के ट्वीट कर नफरत फैला रही है.’