नई दिल्ली: देहरादून में आयोजित उत्तराखंड निवेशक सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है. आने वाले दशकों में दुनिया के विकास का प्रमुख इंजन बनने वाला है. आज भारत की अर्थव्यवस्था स्थिर है. पीएम ने कहा मीडिल क्लास तेजी से आगे बढ़ रहा है. भारत में तेजी से आर्थिक सुधार हो रहे हैं. हमने टैक्स सिस्टम में सुधार किया है और इस सिस्टम में ज्यादा सुगम और पारदर्शी बनाने पर काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि टैक्स सिस्टम में सुधार और कई जनकल्याण योजनाएं शुरू करने से देश में निवेश का सुरक्षित माहौल बन रहा है. Also Read - Uttarakhand: कोरोना की नई गाइडलाइंस जारी, शादियों में अब सिर्फ इतने लोग ही हो सकेंगे शामिल...

देश-विदेश के निवेशकों के लिए भारत में सर्वोत्तम मौहाल बना हुआ है. उन्होंने कहा कि बैंकिंग सिस्टम को और मजबूत करने से देश में कारोबार करने का अच्छा माहौल तैयार हुआ है. उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से मेडिकल क्षेत्र में भी निवेश के अच्छे मौके तैयार हुए हैं. इस योजना के तहत टाइप-2 और टाइप-3 शहरों में हॉस्पिटल बनेंगे. Also Read - पीएम मोदी का बड़ा दावा- कूच बिहार में ममता बनर्जी ने कराई थी हिंसा, ये था प्लान

प्रधानमंत्री ने कहा कि 10 हज़ार से ज्यादा कानूनों में बदलाव किया गया और 14 सौ से ज्यादा काननू खत्म किए हैं. ये कानून अंग्रेजों के जमाने के बने हुए थे और इनकी आज के समय में कोई सार्थकता नहीं थी. उन्होंने जीएसटी सिस्टम को एक बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि जीएसटी सिस्टम देश का सबसे बड़ा टैक्स रिफार्म हुआ है. Also Read - Mahakumbh in Haridwar: हरिद्वार में महाकुंभ का दूसरा शाही स्नान, देखें ये फोटो

पीएम मोदी ने कहा कि सुरक्षित निवेश का इस समय जो भारत में है, ऐसा माहौल पहले कभी नहीं हुआ. देश के इंफ्रास्ट्रक्चर में तेजी से सुधार किया जा रहा है. रोजाना 27 किमी राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया जा रहा है. अलग-अलग शहरों में मेट्रो का विस्तार किया जा रहा है. देश के 400 रेलवे स्टेशन को अतिआधुनिक बनाया जा रहा है.

पीएम ने कहा कि एग्रिकल्चर में होने वाला वैल्यू एडिशन किसानों की आय बढ़ाएगा. एग्रिकल्चर सेक्टर में प्राइवेट निवेश की जरूरत है. पीएम ने कहा कि रेन्युएल एनर्जी के मामले में भारत विश्वगुरु बनने वाला है. 2040 तक 40 प्रतिशत ऊर्जा की जरूरतें इस सेक्टर से पूरी होंगीं. सरकार ने स्वच्छ ऊर्जा पर ध्यान देना शुरू किया है. हम इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. पीएम ने कहा कि भारत की प्रगति राज्यों के पोटेंशियल को चैनलाइज करने से होगी. आज हर राज्य दूसरे से आगे बढ़ना चाहता है. राज्य अपनी क्षमताओं को लेकर बढ़े तो वह पीछे नहीं रहेगा. दुनिया के कई देशों के हमारे राज्यों का सामर्थ्य ज्यादा है. पीएम ने कहा कि जब मैं आज ही के दिन पहली बार गुजरात का सीएम बना तो मुझसे पूछा गया कि आप गुजरात को क्या बनाना चाहते हैं. मैंने कहा कि मैं इसे साउथ कोरिया बनाना चाहता हूं.  क्योंकि दोनों की जनसंख्या समान है, दोनों समुद्री तट पर हैं.