नई दिल्ली. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बुधवार को IndiaKaDNA प्रोग्राम में पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कहा, महागठबंधन होना सच नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मन की बात’ अब ‘दिल की बात’ बन गई है. रोहित वेमुला के केस पर जावड़ेकर ने कहा, उनकी मां ने कहा है कि बीजेपी के खिलाफ बोलने के लिए कहा गया था. यह विपक्षियों की सही तस्वीर दिखा रही है.

अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, आईएस अधिकारियों ने उनकी पोल खोल दी. अधिकारियों ने फाइल पास की. केजरीवाल उनपर जबरदस्ती आरोप लगाते रहे. उनके साथ विपक्ष के लोग नहीं दिखे. ऐसे कैसे महागठबंधन की बात होगी. मोदी के खिलाफ महागठबंधन का कोई उद्देश्य नहीं. यह चुनाव से पहले ही टूट जाएगा.

उन्होंने कहा, पहले सत्ता के गलियारों में दलालों की भीड़ होती थी. आज एक भी दलाल नहीं दिखाई देते हैं. चार साल सरकार के बीत गए और अब विपक्ष के लोग एकजुट होकर हमारे खिलाफ लामबंदी कर रहे हैं. लेकिन जनता हमारे साथ है.

उन्होंने कहा, लोग अब जाति के हिसाब से वोट नहीं कर रहे हैं. वे अब पैसे के लिए वोट नहीं कर रहे हैं, बल्कि वे विकास के नाम पर वोट कर रहे हैं. कर्नाटक इसका उदाहरण है जहां हम सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे हैं.

जावड़ेकर ने कहा, साल 2014 के बाद मोदी लहर बढ़ी है. पहले लोगों को अंदाजा नहीं था कि मोदी कैसे हैं. अब चार साल में लोगों को लगने लगा है कि सरकार कैसे बदलाव ला रही है तो लोग और इसकी तरफ आकर्षित हो रहे हैं. मध्यम वर्ग और गरीब वर्ग सरकार के साथ और भी जुड़ रहे हैं. जीएसटी से लोगों को फायदा हुआ. ये बड़ा क्रांतिकारी परिवर्तन है. इसका श्रेय नरेंद्र मोदी को जाता है. देश की तरक्की के लिएम